Thu. May 23rd, 2024
    भारत के चौदहवें राष्ट्रपति

    रामनाथ कोविंद का देश का चौदहवां राष्ट्रपति बनना तय हो गया है। तीसरे चरण की मतगणना के बाद आये रुझानों में कोविंद ने राष्ट्रपति बनने के लिए जरुरी 5,52,243 मतों का आंकड़ा पार कर लिया है। तीसरे चरण में महाराष्ट्र, ओडिशा, नागालैंड , मिजोरम और राजस्थान राज्यों के मतों की गणना पूरी हो गई है। रामनाथ कोविंद के मतों की कुल संख्या 70,2,044 तक पहुँच चुकी है। ऐसे में यह तय हो गया है कि रामनाथ कोविंद ही देश के अगले राष्ट्रपति होंगे।

    बता दें कि उत्तर प्रदेश के कानपुर से ताल्लुक रखने वाले रामनाथ कोविंद दलित बिरादरी का प्रतिनिधित्व करते हैं और पूर्व में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। उनकी उम्मीदवारी को चुनौती देने के लिए विपक्ष ने पूर्व लोकसभा स्पीकर मीरा कुमार का नाम आगे कर राष्ट्रपति चुनाव को दलित बनाम दलित का नाम दिया था। जेडीयू के “बिहार के राज्यपाल” को समर्थन देने की बात पर उसने मीरा कुमार की उम्मीदवारी को “बिहार की बेटी” कहकर प्रचारित किया। इस वजह से महागठबंधन में दरार भी पड़ी थी।

    आखिरी रुझान शाम 5 बजे तक आने की संभावना है और अब महज इसकी औपचारिकता ही शेष रह गयी है। श्री कोविंद देश के चौदहवें राष्ट्रपति के पद और गोपनीयता की शपथ 25 जुलाई को ग्रहण करेंगे।

    इसके अलावा मीरा कुमार ने घर आये पत्रकारों को मिठाई खिलाई। मीरा ने कहा है कि उन्होंने पूरी ईमानदारी से ये चुनाव लड़ा है एवं उन्हें कोई शिकायत नहीं है। मीरा ने बताय कि ये चुनाव गुप्त हैं, और सबको वोट देने के अधिकार है।

    By हिमांशु पांडेय

    हिमांशु पाण्डेय दा इंडियन वायर के हिंदी संस्करण पर राजनीति संपादक की भूमिका में कार्यरत है। भारत की राजनीति के केंद्र बिंदु माने जाने वाले उत्तर प्रदेश से ताल्लुक रखने वाले हिमांशु भारत की राजनीतिक उठापटक से पूर्णतया वाकिफ है।मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक करने के बाद, राजनीति और लेखन में उनके रुझान ने उन्हें पत्रकारिता की तरफ आकर्षित किया। हिमांशु दा इंडियन वायर के माध्यम से ताजातरीन राजनीतिक और सामाजिक मुद्दों पर अपने विचारों को आम जन तक पहुंचाते हैं।