Sun. Feb 5th, 2023
    राज्यसभा में सचिन

    आखिर हुआ वही जिसका अंदाजा पहले से लगाया जा रहा था। ऐसा माना ही जा रहा था कि राजयसभा में भारी हो हंगामा देखने को मिल सकता है लेकिन आज जो हुआ वो लोकतंत्र के लिए कहीं से भी शुभ संकेत नहीं था।

    देश के सबसे गरिमामय जगह संसद में आज भारत के रत्न सचिन तेंदुलकर को बोलने तक नहीं दिया गया। विपक्ष का हंगामा इतना जोरदार था कि जिसके वजह से राज्यसभा की कार्यवाही को कल तक के लिए स्थगित कर दिया गया।

    गौरतलब है कि आज सचिन तेंदुलकर का बतौर सांसद राजसभा में पहला भाषण होना था। 2012 में वो राजसभा सांसद मनोनीत हुए थे। सचिन जैसे ही अपने भाषण के लिए खड़े हुए कि विपक्ष ने पूर्व प्रधानमंत्री के मुद्दे पर हंगामा करना शुरू कर दिया। कांग्रेस की मांग थी कि मोदी इस मुद्दे पर मनमोहन तथा समस्त देशवासियों से माफ़ी मांगे।

    हालांकि वेंकैया नायडू बार बार यह कहते हुए दिखे कि “जो व्यक्ति बोल रहा है वो कोई सामान्य वयक्ति नहीं है, वो भारत रत्न है। कृपया उनका सम्मान करे, इस समय पूरा देश हमें देख रहा है”, लेकिन इस बात से विपक्ष को कोई फर्क नहीं पड़ा।

    सपा नेता जया बच्चन ने भी इस मुद्दे पर अफ़सोस जताते हुए कहा कि “जिसने देश का नाम कमाया, उसे ही बोलने नहीं दिया गया। जया ने कांग्रेस पर प्रहार किया कि “क्या स्पोर्ट्सपर्सन और आर्टिस्ट को सदन में बोलने नहीं दिया जाएगा, मुझे ऐसा लगता है कि सचिन इसको लेकर अपसेट हैं, सचिन को सदन में बोलने देना चाहिए था”

    सचिन आज खेल तथा खिलाड़िओं के कई अहम मुद्दे संसद में रखने वाले थे, माना जा रहा था कि सचिन आज खेल व्यवस्था, ओलंपिक की तैयारियों और भारतीय खिलाडियों के मुश्किलों जैसे कई मुद्दों पर संसद में आज अपनी बात रख सकते थे।