सोमवार, दिसम्बर 9, 2019

राजदूत ने अमेरिका-तालिबान मसौदे की जानकारी अफगानी राष्ट्रपति के साथ की साझा

Must Read

झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 : तीसरे चरण का मतदान तय करेगा आजसू का राजनीतिक भविष्य

झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए दो चरण का मतदान संपन्न हो जाने के बाद सभी दल तीसरे चरण में...

उत्तर प्रदेश में दो और बलात्कार, औरेया में चलती कार में किया रेप, बिजनौर में नाबालिग के साथ दुष्कर्म

उत्तर प्रदेश में दुष्कर्म जैसे जघन्य अपराध को लेकर एक ओर जहां जनता में आक्रोश है, वहीं राज्य में...

रणजी ट्रॉफी : सांप के कारण विदर्भ और आंध्र प्रदेश के बीच मैच में हुई देरी

यहां विदर्भ और आंध्र प्रदेश के बीच खेला जा रहा रणजी ट्रॉफी के ग्रुप-ए का मैच सांप के कारण...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

अफगानिस्तान में अमेरिका के विशेष राजदूत ज़लमय खलीलजाद ने अमेरिकी-तालिबान शान्ति समझौते के जानकारी को अफगानी राष्ट्रपति अशरफ गनी के साथ साझा की है। तालिबानी समूह के साथ एक साल से भी अधिक समय से समझौते कपर बातचीत जारी है।

राष्ट्रपति के प्रवक्ता सादिक सिद्दीकी ने कहा कि “क़तर से वापसी के बाद शाम को आयोजित बैठक में खलीलजाद ने मसौदा सम्जहुते की जानकारी को साझा किया था। अमेरिका और तालिबान के बीच बीते सप्ताहांत में शान्ति प्रस्ताव पर नौवे चरण की वार्ता वार्ता हुई थी।”

यह वार्ता अफगानी सरजमीं से हजारो सैनिको की वापसी पर केन्द्रित थी और इसके बदले तालिबान ने अफगानी सरजमीं पर आतंकवादी समूहों को पनाह न देने का संकल्प लिया है। सोमवार की प्रेस कांफ्रेंस के बाद राष्ट्रपति के सलाहकार वागीद ओमार ने पुष्टि की कि खलीलजाद ने राष्ट्रपति गनी और प्रमुख कार्यकारी अब्दुल्लाह अब्दुल्लाह के साथ बातचीत की थी।

उन्होंने ट्वीटर पर पोस्ट किया कि “खलीलजाद ने तालिबान और अमेरिका बीच हुए मसौदे समझौते को दिखाया था। .हम इन दस्तावेजो को देखेंगे और राजदूत खलीलजाद और उनकी टीम से वार्ता जारी रखेंगे।” तालिबान ने रविवार को पुल ए खुमरी में हमला किया था।

टोलो न्यूज़ को दिए इंटरव्यू में राजदूत ने कहा कि “अगर तालिबान मसौदे समजौते की शर्तो पर खारा उतरता है तो  अफगानिस्तान में पांच ठिकानों से 135 दिनों में 5000 सैनिको की वापसी की जाएगी।”

तालिबान के प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने कहा कि “इस चरम में हमें प्रगति की है तो हम शेष बिन्दुओं को अन्तिक रूप दे रहे हैं। जैसे ही शेष बिन्दुओं को अंतिम रूप दे दिया जायेगा, इस समझौते का खुलासा कर दिया जायेगा।” अमेरिका के विशेष प्रतिनिधि ज़ल्माय खलीलज़ाद ने तालिबान पर काबुल सरकार के साथ प्रत्यक्ष बातचीत करने और क्षेत्र में संघर्ष विराम को बरक़रार रखने के लिए रजामंदी जाहिर करने के लिए दबाव बना रहे हैं।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 : तीसरे चरण का मतदान तय करेगा आजसू का राजनीतिक भविष्य

झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए दो चरण का मतदान संपन्न हो जाने के बाद सभी दल तीसरे चरण में...

उत्तर प्रदेश में दो और बलात्कार, औरेया में चलती कार में किया रेप, बिजनौर में नाबालिग के साथ दुष्कर्म

उत्तर प्रदेश में दुष्कर्म जैसे जघन्य अपराध को लेकर एक ओर जहां जनता में आक्रोश है, वहीं राज्य में ऐसे मामलों को लेकर शिकायतों...

रणजी ट्रॉफी : सांप के कारण विदर्भ और आंध्र प्रदेश के बीच मैच में हुई देरी

यहां विदर्भ और आंध्र प्रदेश के बीच खेला जा रहा रणजी ट्रॉफी के ग्रुप-ए का मैच सांप के कारण देरी से शुरू हुआ। मैच...

पीएम मोदी व कांग्रेस नेताओं ने कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को दीं जन्मदिन की शुभकामनाएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को उनके 73वें जन्मदिन की शुभकामनाएं दी। मोदी ने ट्वीट किया, "श्रीमती सोनिया गांधी...

संसद शीतकालीन सत्र : राज्यसभा ने दिल्ली अग्निकांड पर शोक जताया

राज्यसभा ने सोमवार को दिल्ली के रानी झांसी मार्ग इलाके में भयानक आग की चपेट में आकर 43 मजदूरों के मारे जाने पर शोक...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -