गुरूवार, अक्टूबर 24, 2019

रवि शास्त्री: एमएस धोनी- विराट कोहली के रिश्ते का असर ड्रेसिंग रुम में दिखता है

Must Read

बैडमिंटन : सायना की संघर्षपूर्ण जीत, कश्यप, श्रीकांत और समीर पहले दौर में बाहर (लीड-1)

पेरिस, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। सायना नेहवाल ने यहां जारी फ्रेंच ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के पहले दौर में मिली संघर्षपूर्ण...

उत्तराखंड पंचायत चुनाव में रावत व योगी के गृह जनपद में भाजपा पर भारी पड़ी कांग्रेस

देहरादून 23 अक्टूबर, (आईएएनएस)। उत्तराखंड में हुए पंचायत चुनाव में सबसे चौंकाने वाला नतीजा पौड़ी जिले का रहा है।...

गैर-तेल क्षेत्र की कंपनियों के लिए भी खुला पेट्रोल, डीजल की बिक्री का द्वार

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल की खुदरा बिक्री के नियमों को सरल बनाते...
अंकुर पटवाल
अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

कप्तान विराट कोहली ने हमेशा कहा है कि इस पक्ष में एमएस धोनी की भूमिका उनके द्वारा किए गए रनों से परे है, एक बयान जिसमें भारत के मुख्य कोच रवि शास्त्री का शानदार समर्थन मिला है।

शास्त्री ने यह भी कहा कि एमएस धोनी और विराट कोहली के बीच तालमेल और सम्मान जबरदस्त है और दोनों व्यक्ति एक आम टीम के लक्ष्य के लिए प्रतिबद्ध हैं।

शास्त्री ने क्रिकेटनेक्सट को दिए एक इंटरव्यू में कहा, ” मैं कभी भी इन दोनो को लकर संदेह में नही आया है जिस प्रकार का सम्मान यह दोनो एक दूसरे के लिए रखते है, इससे वह एक दूसरे के लिए अच्छा काम कर रहे है क्योंकि मेरे पहले चरण के काम में एमएस धोनी कप्तान थे, और अगले आधे में विराट कप्तान है। और जब ये दोनो खेलते है तो मैंने देखा की दोनो की एक-दूसरे के लिए प्रतिबद्धता जबरदस्त है।”

उन्होंने यह भी कहा कि किस तरह से ड्रेसिंग रूम में खिलाड़ी धोनी को देखकर बहुत कुछ सीखते है और कैसे वह मैदान पर खुद को कैरी करते है।

उन्होने आगे कहा, “हर कोई जानता है और वे जानते हैं कि उसने खेल में क्या हासिल किया है, वह कद जो उसके पास है और फिर संतुलन को देखने के लिए और विनम्रता को देखने के लिए, आप वहां उसकी सरासर उपस्थिति को जानते हैं, जिस प्रकार का मानसिक संतुलन वो लाते है जब वह बल्लेबाजी करते है और यहां तक कि विकेटकीपिंग करते समय आप उसे केवल देख और उसका अनुकरण करके बहुत कुछ सीख और प्रयास कर सकते है।”

ड्रेसिंग रूम में विभिन्न व्यक्तित्वों के बारे में बोलते हुए, कोच ने कहा कि यह पूरी तरह से काम करता है क्योंकि यह लोगों को खुद को व्यक्त करने और जो वे हैं, उसके प्रति सच्चे रहने की अनुमति देता है।

उन्होने आगे कहा, ” हम नही चाहते के सभी का व्यक्तित्व एक जैसे हो और तब आप जानते हैं कि सभी नरक ढीले टूट जाएंगे, लेकिन आपको इसकी आवश्यकता है। इस प्रकार का कुछ जुनून विराट के पास है और धोनी के पास एक शांत स्वभाव है और हर खिलाड़ी का अपना अलग व्यक्तित्व है। रोहित शिखर से अलग है। कुलदीप हार्दिक जैसे खिलाड़ी किसी खिलाड़ी से अलग है। और आपको टीम में इसकी जरुरत है।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

बैडमिंटन : सायना की संघर्षपूर्ण जीत, कश्यप, श्रीकांत और समीर पहले दौर में बाहर (लीड-1)

पेरिस, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। सायना नेहवाल ने यहां जारी फ्रेंच ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के पहले दौर में मिली संघर्षपूर्ण...

उत्तराखंड पंचायत चुनाव में रावत व योगी के गृह जनपद में भाजपा पर भारी पड़ी कांग्रेस

देहरादून 23 अक्टूबर, (आईएएनएस)। उत्तराखंड में हुए पंचायत चुनाव में सबसे चौंकाने वाला नतीजा पौड़ी जिले का रहा है। यहां जिला पंचायत सीटों के...

गैर-तेल क्षेत्र की कंपनियों के लिए भी खुला पेट्रोल, डीजल की बिक्री का द्वार

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल की खुदरा बिक्री के नियमों को सरल बनाते हुए बुधवार को सभी कंपनियों...

रविदास मंदिर पर ओछी राजनीति कर रही कांग्रेस और आप : भाजपा

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर,(आईएएनएस)। दिल्ली के तुगलकाबाद में रविदास मंदिर के मुद्दे पर भाजपा ने आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पर ओछी राजनीति करने...

रविदास मंदिर पर ओछी राजनीति कर रही कांग्रेस और आप : भाजपा

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर,(आईएएनएस)। दिल्ली के तुगलकाबाद में रविदास मंदिर के मुद्दे पर भाजपा ने आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पर ओछी राजनीति करने...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -