Fri. May 24th, 2024
    ravi-kishan

    भोजपुरी सुपरस्टर और हिंदी फिल्मों का जाना पहचाना चेहरा, रवि किशन भाजपा की टिकट पर गोरखपुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं, सीएम योगी आदित्यनाथ की पूर्व संसदीय सीट जो पिछले साल आश्चर्यजनक उपचुनाव में विपक्षी पार्टी के पास चली गई थी। 49 वर्षीय अभिनेता अपनी जिम्मेदारी को महसूस किया हैं।

    योगी आदित्यनाथ, जो गोरखपुर मंदिर के मुख्य पुजारी भी थे, ने दो दशकों तक इस सीट पर कब्जा किया रखा। उपचुनाव में भाजपा को भारी झटका लगा, सयुक्त विपक्षी उम्मीदवार प्रवीण निषाद ने इस सीट पर जीत दर्ज कराई, जिससे सपा पार्टी के अखिलेश यादव और बसपा पार्टी की मायावती को वर्षों से प्रतिद्वंद्वी रहे हैं। अपने सफल उद्यमों को राष्ट्रीय चुनाव तक पहुंचाने का एक कारण हैं।

    रवि किशन ही क्यों, जो 2014 में कांंग्रेस की सीट से चुनाव लड़े थे और हार गए थे।

    रवि किशन ने कहा, हां मैं ही क्यों, 2007 से ही मैं भाजपा के लिए प्रचार कर रहा था। शायद इसलिए क्योंकि मैं जौनपुर का लड़का हूं, एक पुजारी का बेटा , जो कि एक बहुत, बहुत साधारण परिवार से हैं। मेरा परिवार गोरखपुर से हैं। भाजपा को मेरे कठिन संघर्ष को जानना चाहिए। मैं बहुत भाग्यशाली हूं। मैं निशब्द हूं।

    अभिनेता ने कहा कि उनको अभी तक विश्वास नही हो रहा कि हाई कमांड ने उन पर भरोसा दिखाया हैं।

    मैं इस समय पूरी तरह से रिक्त हूं, मैं सब कुछ का सामना कैसे करूंगा.. यह बहुत बड़ा युद्ध हैं। मैं इस के बारे में पीएम मोदी से सीधे बात करूंगा।

    रवि किशन, गोरखपुर से उम्मीदवार घोषित होने के बाद योगी आदित्यनाथ के पैर छूते हुए रवि किशन ने कहा कि उनके लिए कोई चुनौती नही हैं। पिछली बार के विजेता प्रवीण निषाद भाजपा को पार कर लिया था और सपा ने रामभौल निषाद को उम्मीदवार के रूप में उतारा था। निषाद समुदाय गोरखपुर में बहुत मजबूत हैं।

    2014 के पिछले चुनाव में, रवि किशन को जौनपुर में केवल 4 प्रतिशत वोट मिले, जोकि कांग्रेस के लिए एक मजबूत भोजपुरी गढ़ हैं।

    उस समय प्रधानमंत्री मोदी की लहर मजबूत थी। कल्पना कीजिए इस बार सुनामी होगी। कांग्रेस का जौनपुर में कोई पहचान नही हैं। यह मेरा अनियोजित फैसला था। मैंने इसके लिए किमत चुकाई हैं। लेकिन यह बहुत बड़ी मोदी जी, मोदी जी लहर थी। मैं उस सुनामी को अब भी महसुस कर रहा हूं।

    उन्होंने कांग्रेस और उसके प्रमुख राहुल गांधी के बारे में बात करने से मना कर दिया। उन्होंने कहा, मैं किसी के बारे में बुरा नही बोलना चाहता। इस समय सब कुछ मोदी के बारे में हैं। मुझे माफ करे लेकिन मैं एक ईमानदार  व्यक्ति हूं।  मैं मोदी के विषय में बात कर सकता हूं, और किसी के विषय में नही।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *