Fri. Jun 14th, 2024
    ताजमहल

    उत्तर प्रदेश में योगी सरकार द्वारा पर्यटक गंतव्यों की बुकलेट जारी होते ही विवादों में आ गई है। विवाद शुरू होने की वजह थी, कि इस बुकलेट में ताजमहल को शामिल नहीं किया गया है। जबकि सीएम योगी आदित्यनाथ के गोरखनाथ मंदिर को इसमें शामिल किया है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने इस पर कटाक्ष करते हुए कहा ‘अंधेर नगरी चौपट राजा’।

    यूपी सरकार द्वारा जो बुकलेट जारी की है, उसमे दो पेज गोरखनाथ मंदिर को दिया गया है, वहीं बुकलेट के पहले पन्ने पर वाराणसी की गंगा आरती की तस्वीर है। दूसरे पेज पर योगी आदित्यनाथ ओर पर्यटनमंत्री रीता बहुगुणा जोशी की तस्वीर है। इसके अलावा बुकलेट में पर्यटन विकास योजनाओ के बारे में लिखा गया है।

    ताजमहल को लेकर योगी सरकार पहले ही थोड़ी सुर्खियों में रह चुकी है। अभी यूपी सरकार ने ताजमहल को यूपी की सांस्कृतिक विरासत की लिस्ट में नहीं रखा है। इससे पहले योगी ने बिहार की दरभंगा रैली में यह तक कह दिया था कि उनके लिए ताजमहल एक इमारत के सिवा ओर कुछ नहीं है।

    योगी सरकार की पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी है, रीता बहुगुणा पहले कांग्रेस में थी जो यूपी चुनाव के वक़्त बीजेपी का दामन थाम लिया था।

     

    राहुल ने दिया भारतेन्दु का हवाला

    कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने योगी सरकार के इस कदम पर कटाक्ष किया है और कहा है कि सूरज को दीपक न दिखाने से उसकी चमक नहीं घटती ऐसे ही राज के लिए भारतेन्दु ने लिखा था ‘अंधेर नगरी और चौपट राजा’।

    यूपी सरकार ने दिया स्पष्टीकरण

    पर्यटन गंतव्यों की बुकलेट में ताजमहल नहीं होने के कारण योगी सरकार पर सवाल उठने शुरू हो गए है, देर शाम योगी सरकार ने एक प्रेसनोट रिलीज़ किया जिसमे उन्होंने लिखा था कि प्रो-पुअर पर्यटन योजना के तहत ताजमहल ओर उससे जुड़े विकास के लिए 156 करोड़ रूपये का प्रस्ताव वर्ल्ड बैंक के पास प्रस्तावित है। इस योजना पर तीन माह में में स्वीकृति अपेक्षित है।