Tue. May 28th, 2024
    योगी आदित्यनाथ सरकार शिक्षा

    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को गुवाहाटी में कहा कि राफले मुद्दे पर संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से जांच कराने का कोई सवाल ही नहीं है और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को सभ्यता के सभी स्तरों को पार करने के लिए देश के लोगों से माफ़ी मांगनी चाहिए।

    राफले डील पर सुप्रीम कोर्ट (एससी) के फैसले के बाद भाजपा देश भर में प्रेस कांफ्रेंस कर रही है, इसी सिलसिले में आदित्यनाथ असम में थे। उन्होंने भारत और फ़्रांस के बीच रक्षा सौदे की किसी भी तरह की जाँच से इनकार कर दिया।

    आदित्यनाथ ने कहा कि कांग्रेस इस मुद्दे को तुल दे रही है। “कांग्रेस ने इस दुर्भावनापूर्ण अभियान को पूरी तरह से इस्तेमाल किया है। और राहुल गांधी ने सभ्यता की सभी सीमाओं को पार कर लिया है। उन्होंने (राहुल गाँधी) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया है उसके लिए देश से माफ़ी मांगनी चाहिए।”

    आदित्यनाथ ने कहा कि झूठ बोलना कांग्रेस की नीति बन गई है ताकि वह सच्चाई लगे। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा, “राफले के मुद्दे पर, सुप्रीम कोर्ट ने सब कुछ स्पष्ट कर दिया है। अब जब सर्वोच्च न्यायालय ने सबकुछ स्पष्ट किया है, तो जेपीसी का कोई सवाल नहीं है।” एक जेपीसी संसद की एक समिति है और इससे अलग नहीं है।

    आदित्यनाथ ने कहा कि “भाजपा, कांग्रेस और अन्य दलों से संसद में चर्चा करने के लिए कह रही है। लेकिन झूठ के पीछे छिपने और इस मुद्दे को लंबित रखने के लिए, वे इस पर चर्चा नहीं करना चाहते हैं। ताकि जब तक यह लंबित है, वे देश के लोगों को गुमराह करना जारी रख सकते हैं।”

    आदित्यनाथ ने कहा कि कांग्रेस चर्चा से दूर भाग रही है ताकि राफल और अगुस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाले समेत अन्य सौदों के बारे में सच्चाई देश के लोगों के सामने ना आ पाए।

    आदित्यनाथ ने राहुल गांधी के बयान पर कहा कि वह सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को “बेहद दुर्भाग्यपूर्ण” कहे जाने से  सहमत नहीं हैं। यह संवैधानिक संस्थानों के प्रति कांग्रेस के दृष्टिकोण को भी प्रदर्शित करता है।

    बोफोर्स और अगुस्ता वेस्टलैंड घोटालों में कथित रूप से शामिल मध्यस्थों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, “कांग्रेस ने 2007 और 2014 के बीच सौदा को फाइलों में बंद रखा क्योंकि उसे इस सौदे के लिए कोई क्वात्रोची और मिशेल नहीं मिल पाया।”

    भाजपा ने राफेल डील पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद देश भर में प्रेस कांफ्रेंस कर कांग्रेस और राहुल गाँधी पर हमला करने की रणनीति बनाई है।

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *