Sat. Jun 15th, 2024
    Yogi-Adityanath

    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को अपने राज्य के प्रवासियों से मुंबई और महाराष्ट्र के विकास में योगदान करने के लिए कहा, लेकिन ये भी कहा कि अपनी जड़ों और अपने पूर्वजों की भूमि को नहीं भूलना चाहिए।

    योगी, भाजपा के एक स्थानीय नेता द्वारा आयोजित मुंबई में 31वे उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस समारोह में भाग लेने के लिए आए हुए थे। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने भी समारोह में भाग लिया।

    उत्तर प्रदेश द्वारा कुम्भ की तैयारियों का उल्लेख करते हुए योगी ने कहा-“गंगा के पानी को शुद्ध, पवित्र और स्वच्छ बनाने और व्यवस्था को परेशानी मुक्त बनाने के लिए सभी तरह के शोध किए गए। अब तक, 3.5 करोड़ भक्तों ने कुंभ मेले में पवित्र डुबकी लगाई है और मण्डली के अंत तक, हम उम्मीद करते हैं कि 15 करोड़ से अधिक भक्तों ने गंगा, यमुना और सरस्वती नदियों के संगम पर पवित्र स्नान किया होगा।”

    उन्होंने मुंबई और महाराष्ट्र में रह रहे यूपी के लोगों से भी अपनी जड़ो को ना भूलने की अपील की।

    उनके मुताबिक, “आप सभी मुंबई और महाराष्ट्र के विकास में अपना योगदान देते रहें, लेकिन कृपया अपने पूर्वजों के जन्म स्थान को ना भूलें। अपने पैतृक स्थान के लिए भी कुछ ना कुछ करते रहें।”

    आदित्यनाथ ने भाजपा शासित राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए फडणवीस के प्रयासों की सराहना की।

    फडणवीस की ओर इशारा करते हुए, आदित्यनाथ ने कहा-“आपने कुछ लोगों को गिरफ्तार करके बहुत अच्छा काम किया है, जिनके पास कुंभ में कुछ बुरा करने के लिए भयावह इरादे थे। हालांकि, अगर वे यूपी में आए होते, तो हम उनसे अपनी सीमा पर ही निपट लेते। हम जानते हैं कि ऐसे लोगों से कैसे निपटना है।”

    योगी स्पष्ट रूप से एक “आईएसआईएस-प्रेरित” समूह के सदस्यों की गिरफ्तारी का जिक्र कर रहे थे, जो कि महाराष्ट्र पुलिस ने दावा किया था कि वे संभवत: कुंभ मेले सहित बड़े समारोहों में सामूहिक हमलों की योजना बना रहे थे।

    सभा को सम्बोधित करते हुए, फडणवीस ने कहा-“उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र का लंबा संबंध है। उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र के बीच यह बंधन इतना गहरा है कि ऐसा लगता है जैसे दूध में शक्कर मिला दी गई है और राज्य के विकास में समान रूप से योगदान दे रहा है।”

    आदित्यनाथ ने कहा कि महाराष्ट्र बाल गंगाधर तिलक, वीर सावरकर और डॉक्टर बी आर अंबेडकर जैसे दिग्गजों की भूमि थी।

    फडणवीस ने उत्तर प्रदेश की भूमि की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह भगवान राम और कृष्ण जैसे कई देवताओं का जन्म स्थान है।

    इस अवसर पर, महाराष्ट्र के रहने वाले नाइक ने उत्तर प्रदेश के राज्यपाल के रूप में अपने कार्यकाल का रिपोर्ट कार्ड प्रस्तुत किया।

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *