Tue. Nov 29th, 2022

    भारत के चुनाव आयोग द्वारा घोषित परिणामों के अनुसार भाजपा अयोध्या में 40 जिला पंचायत सीटों में से केवल आठ जीतने में कामयाब रही, जबकि मथुरा में वह केवल 33 में से आठ सीटें ही हासिल कर पाई। अयोध्या, मथुरा और वाराणसी में उत्तर प्रदेश पंचायत चुनावों के नतीजों को भाजपा के लिए एक झटका के रूप में देखा जा सकता है, जो अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों पर असर डाल सकता है।

    वहीं दूसरी ओर विपक्षी दल समाजवादी पार्टी ने दावा किया कि यह परिणाम पार्टी की विचारधारा की जीत है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा, “पंचायत चुनाव के नतीजों से पता चला है कि भाजपा अब डूबता हुआ जहाज है। राज्य में पंचायत चुनावों से निकलने वाले संकेत बताते हैं कि भाजपा का 2022 में सफाया हो जाएगा”। उन्होंने आगे कहा की “प्रधानमंत्री मोदी के निर्वाचन क्षेत्र (वाराणसी) और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मैदान (गोरखपुर) में भी भाजपा को हार का स्वाद चखना पड़ा। लखनऊ में भी भाजपा को आधिकारिक मशीनरी के दुरुपयोग के बावजूद हार मिली है।”

    इस बीच, जैसे ही उत्तर प्रदेश पंचायत चुनावों के नतीजे सामने आने लगे है, सभी प्रतियोगी दलों ने शानदार प्रदर्शन का दावा किया। आम आदमी पार्टी के नेता वैभव माहेश्वरी ने कहा कि उनकी पार्टी के समर्थन वाले 71 सदस्यों ने जिला परिषद सदस्यों का पद जीता है।

    सोमवार को, भाजपा ने दावा किया था कि जिला पंचायतों के लिए 918 पार्टी के उम्मीदवार चुने गए हैं, जबकि उनमें 500 ​​से अधिक प्रमुख थे। समाजवादी पार्टी के नेताओं ने दावा किया कि उन्होंने भाजपा समर्थित उम्मीदवारों को टक्कर की लड़ाई दी है। इस बीच, आम आदमी पार्टी ने कहा कि उसने पंचायत चुनावों में प्रवेश कर लिया है और उसके समर्थन वाले उम्मीदवारों ने 70 से अधिक जिला पंचायत सदस्य और 200 से अधिक ग्राम प्रधान सीटों पर जीत दर्ज की है।

    उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में रविवार को 825 केंद्रों पर वोटों की गिनती शुरू हुई। मतपत्र ग्राम पंचायत वार्डों, ग्राम पंचायतों, ब्लॉक पंचायतों और जिला पंचायतों में 8.69 लाख पदों के भाग्य का फैसला हुआ।

    By दीक्षा शर्मा

    गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय, दिल्ली से LLB छात्र

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *