उत्तर प्रदेश से साफ नहीं होगी कॉंग्रेस, हमने दी हैं 2 सीटें: अखिलेश यादव

अखिलेश यादव: सपा-बसपा गठबंधन तय हो चुका है, नहीं आएगी सीटों के बटवारे से संबधित कोई समस्या

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने आगामी आम चुनावों के लिहाज से कॉंग्रेस पर तंज़ कसते हुए कहा है कि ‘कॉंग्रेस यूपी में साफ नहीं होगी, हमने(सपा-बसपा गठबंधन) उन्हे 2 सीटें दी हुई है।’

‘द वायर’ के साथ हुई बातचीत में अखिलेश यादव ने बताया है कि सपा, बसपा और आरएलडी आने वाले चुनावों में भाजपा के रथ पर रोक लगाने के लिए एक साथ आ रहे हैं।

मालूम हो कि उत्तर प्रदेश और बिहार में अगले आम चुनावों को देखते हुए सपा,बसपा और आरएलडी ने एक साथ आने का फैसला किया है। गठबंधन के इस फैसले से एक ओर विपक्ष के महागठबंधन को नुकसान होता हुआ दिख रहा है, वहीं इन तीनों के एक साथ आ जाने से यूपी और बिहार में भाजपा की राह भी मुश्किल हो गयी है।

गौरतलब है कि सपा-बसपा के इस गठबंधन ने उत्तर प्रदेश के अमेठी और रायबरेली से कोई भी प्रत्याशी न उतारने का निर्णय लिया है। मालूम हो कि अमेठी से कॉंग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी और रायबरेली से उनकी माँ व यूपीए अध्यक्ष सोनिया गाँधी चुनाव लड़ती हैं।

उत्तर प्रदेश की कुल 80 लोकसभा सीटों में से सपा और बसपा 37-37 सीटों पर जबकि आरएलडी तीन से चार सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

वहीं दूसरी ओर कॉंग्रेस ने प्रियंका गाँधी को अपना राष्ट्रीय सचिव नियुक्त करने के साथ ही उन्हे अगले चुनाव के लिए पूर्वी उत्तर प्रदेश की कमान दी है। इसके चलते माना जा रहा है कि कॉंग्रेस अगले आम चुनावों में उत्तर प्रदेश में भी पूरी तयारी के साथ उतरेगी।

जब अखिलेश यादव से कॉंग्रेस को इस गठबंधन में शामिल न करने के विषय में सवाल पूछा गया तो उन्होने बड़ी चतुराई से इसका जवाब देते हुए कहा कि हम 2 सीटों पर कॉंग्रेस का समर्थन कर रहे हैं, इस तरह से कॉंग्रेस भी इस गठबंधन में शामिल है।

भाजपा के विषय में अखिलेश यादव ने स्पष्ट किया है कि ‘जहां तक भाजपा को रोकने का सवाल है, सभी साथ हैं।’

(अखिलेश यादव ने ये सभी बातें ‘द वायर’ को दिये गए एक इंटरव्यू में कहीं हैं।)

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here