Fri. May 24th, 2024

    टी-सीरीज म्यूजिक चैनल यूट्यूब पर विश्व का सबसे ज्यादा सब्सक्राइब किया हुआ चैनल बनने वाला है। वर्तमान में टी-सीरीज के 70,112,800 के करीब सब्सक्राइबर हैं, वहीँ पिउडीपाई के लगभग 70,500,300 सब्सक्राइबर हैं। हालाँकि यहाँ ध्यान देने वाली बात यह है कि टी-सीरीज के सब्सक्राइबर की संख्या काफी तेजी से बढ़ रही है।

    जाहिर है टी-सीरीज के म्यूजिक कंपनी है, जो ज्यादातर बॉलीवुड फिल्मों के गानें बनाती है। ऐसे में कंपनी के पास लगभग हर हिंदी और दूसरी भाषाओँ के गानों के राईट होते हैं। कंपनी इन्हीं गानों की विडियो को यूट्यूब पर डालती है।

    इस साल के शुरुआत में टी-सीरीज के सब्सक्राइबर 3 करोड़ से भी कम थे। लेकिन कंपनी नें सिर्फ 11 महीनों में इस संख्या में लगभग 240% की वृद्धि की है।

    पिउडीपाई के बारे में आपको बता दें कि यह स्वीडन के रहने वाले फेलिक्स नामक एक व्यक्ति का चैनल है जो विडियो गेम्स की विडियो यूट्यूब पर डालता है। पिछले कई सालों से पिउडीपाई यूट्यूब का सबसे ज्यादा सब्सक्राइब किया हुआ चैनल है, लेकिन अब एक भारतीय चैनल इसका स्थान लेने जा रहा है।

    टी-सीरीज

    टी-सीरीज की तेजी से होने वाली वृद्धि की यदि बात करें तो इसका मुख्य कारण भारत में तेजी से फैलने वाला इंटरनेट है। रिलायंस जिओ के आने से देश के हर कोने में 4जी इंटरनेट पहुँच गया है और ज्यादा से ज्यादा लोग ऑनलाइन हो रहे हैं।

    पिछले लगभग 5-6 महीनों से टी-सीरीज और पिउडीपाई के बीच ऑनलाइन जंग छिड़ी हुई है और लोग इंतजार कर रहे हैं, जब टी-सीरीज सबसे बड़ा चैनल बन जाएगा।

    टी-सीरीज की कहानी

    टी-सीरीज की स्थापना सन 1984 में गुलशन कुमार नें की थी। उस समय कुमार म्यूजिक की कैसेट बनाकर बेचते थे।

    टी-सीरीज को सबसे पहली सफलता ‘आशिकी’ नामक एल्बम से मिली थी, जिसे आज भी लोग सुनते हैं।

    इसके बाद से टी-सीरीज एक घरेलु नाम बन गया और बॉलीवुड में म्यूजिक के नाम के साथ जुड़ गया।

    गुलशन कुमार की मौत के बाद उनके पुत्र भूषण कुमार इसके संचालक हैं। भूषण कुमार का कहना है कि डिजिटल युग में टी-सीरीज भारतीय म्यूजिक का नाम रोशन करेगा।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *