Thu. Jun 13th, 2024
    संयुक्त राष्ट्र

    भारत के जम्मू कश्मीर राज्य के पुलवामा जिले में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले की संयुक्त राष्ट्र ने निंदा की है। इस भयावह हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। यूएन ने इस आतंकी हमले के दोषियों को सज़ा दिलाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय देशों से भारत का सहयोग करने का आग्रह किया है।

    भारत के साथ सहयोग करें सभी राष्ट्र

    संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् ने विज्ञप्ति जारी कर कहा कि “सुरक्षा परिषद् के सदस्य जम्मू कश्मीर में हुए इस घृणित और कायराना आत्मघाती हमले की कड़ी निंदा सकते हैं। इस हमले में 40 भारतीय जवानों की मृत्यु हो गयी थी और दर्जनों सैनिक बुरी तरह जख्मी थे। इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी जैश ए मोहम्मद ने ली है।”

    यूएन ने सही देशों के ठोस कदम उठाने का अनुरोध किया है। उन्होंने साजिशकर्ताओं,आयोजकों, वित्तीय सहायता मुहैया करने वालो और प्रायोजकों की गिरफ्तारी की जरुरत को रेखांकित किया और उन्हें इसके लिए सज़ा दिलवाने का आवहान किया। यूएन ने सभी देशों को भारत सरकार और इससे सम्बंधित विभागों के साथ सक्रियता से सहयोग करने को कहा है।

    साथ ही यूएन ने पीड़ितों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। यूएन ने कहा “सुरक्षा परिषद् के सदस्य पीड़ितों के परिवारों और भारत सरकार व भारतीय जनता के प्रति गहरी सहानुभूति और संवेदना व्यक्त करते हैं। साथ ही जख्मी सैनिकों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं।”

    सुरक्षा परिषद के अन्य सदस्यों ने कहा कि “कोई भी आतंकी गतिविधि आपराधिक है और अन्यायसंगत है। सभी देशों को इसे खत्म करने की जरूरत हैं।”

    यूएन का भारत और पाक से आग्रह

    संयुक्त राष्ट्र के सचिव एंटानियो गुटरेस ने मंगलवार को भारत और पाकिस्तान से तनाव को कम करने के लिए तत्काल कदम उठाने को कहा है और दोनों राष्ट्रों की रजामंदी पर बिचौलिए द्वारा मदद करने का भी प्रस्ताव दिया है। यूएन के प्रवक्ता स्टेफने दुजरिक ने कहा कि “दोनों राष्ट्रों के मध्य तनाव बढ़ने हम काफी चिंतित हैं। उन्होंने दोनों राष्ट्रों को अधिकतम संयम बरतने और बढ़ते तनाव को तत्काल खत्म करने का आग्रह किया है। साथ ही दोनों राष्ट्रों कस मध्य बिचौलिए द्वारा मदद करने का प्रस्ताव भी रखा था।”

    जैश-ए-मोहम्मद द्वारा अंजाम दिए इस हमले में सीआरपीएफ के 44 सैनिक शहीद हो और कई सैनिक बुरी तरह जख्मी है। रिपोर्ट के मुताबिक आतंकी हमलावर की कार में लगभग 350 किलोग्राम विस्फोटक पदार्थ था, जिसने सीआरपीएफ के काफिले की बस में टक्कर मारी थी। इस हमले में बस को निशाना बनाया गया था लेकिन यह धमाका इतना खतरनाक था कि इससे कई और वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गए।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *