गुरूवार, अक्टूबर 24, 2019

युवराज सिंह को अभी भी 2019 विश्वकप की टीम में आने की हैं उम्मीद

Must Read

बैडमिंटन : सायना की संघर्षपूर्ण जीत, कश्यप, श्रीकांत और समीर पहले दौर में बाहर (लीड-1)

पेरिस, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। सायना नेहवाल ने यहां जारी फ्रेंच ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के पहले दौर में मिली संघर्षपूर्ण...

उत्तराखंड पंचायत चुनाव में रावत व योगी के गृह जनपद में भाजपा पर भारी पड़ी कांग्रेस

देहरादून 23 अक्टूबर, (आईएएनएस)। उत्तराखंड में हुए पंचायत चुनाव में सबसे चौंकाने वाला नतीजा पौड़ी जिले का रहा है।...

गैर-तेल क्षेत्र की कंपनियों के लिए भी खुला पेट्रोल, डीजल की बिक्री का द्वार

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल की खुदरा बिक्री के नियमों को सरल बनाते...
अंकुर पटवाल
अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

भारतीय टीम के अनुभवी ऑलराउंडर युवराज सिंह ने रविवार को कहा कि वह हाल के दिनो में अपने अच्छे फॉर्म में आने के लिए कड़ा संघर्ष कर रहे है और मई-जून में होने वाले विश्वकप टीम का हिस्सा बनने के लिए कोशिश कर रहे है।

2011 विश्वकप विजेता के हीरो ने जादवपुर विश्वविद्यालय साल्टलेक कैंपस मैदान से कहा, ” क्रिकेेट ने मुझे सब कुछ दिया है, जब मैं खेल से सन्यास लूंगा तो मैं उस वक्त अपने सर्वक्षेष्ठ फार्म में रहना चाहता हूं। मैं किसी अफसोस के साथ सन्यास नही लेना चाहता।”

37 साल के इस ऑलराउंडर खिलाड़ी को मुंबई इंडियंस की फ्रेंचाइजी ने आईपीएल सीजन-12 की नीलामी में एक करोड़ में खरीदा है।

युवराज ने कहा, ” मैं अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए तैयार हूं। अब यह हमारा लीग का फाइनल रणजी ट्रॉफी मैच हैं देखते है कि हम क्वालिफाई होते है या नही… इसके बाद, हमारा राष्ट्रीय टी-20 टूर्नामेंट भी है, फिर आखिरी में जाकर आईपीएल है। मैं यहा पर अपना बेस्ट खेल खेलना चाहता हूं और अच्छे कि ही उम्मीद करता हूं।”

युवराज नें भारतीय टीम की ऑस्ट्रेलिया में अच्छे खेल की भी सरहाना भी की।

उन्होने कहा, ” हालांकि ऑस्ट्रेलियाई टीम का बल्लेबाजी में उतना अनुभव नही है जितना पहला हुआ करता था। लेकिन हमारे खिलाड़ियो ने अच्छा खेल दिखाया। खासकर की, चतेश्वर पुजारा, विराट कोहली और जसप्रीत बुमराह। इन तीनो ने टेस्ट सीरीज में अच्छा खेल खेला। यह देखना भी बहुत अच्छा रहा की ऋिषभ पंत नीचे के ऑर्डर में बल्लेबाजी करते हुए काफी रन बना रहे है। यह इंडियन क्रिकेट के भविष्य के लिए अच्छी बात है।”

” जब भी हम ऑस्ट्रेलिया का टूर करते है तो हमारे लिए टूर बहुत कठिन रहता है। हर बार हमे सीरीज जीतने का मौका मिलता था लेकिन हम ड्रॉ पर आकर रुक जाते थे… ऑस्ट्रेलिया ने इससे पहले 2003-04 और 2007-08 में 2-1 से हमसे सीरीज जीती थी।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

बैडमिंटन : सायना की संघर्षपूर्ण जीत, कश्यप, श्रीकांत और समीर पहले दौर में बाहर (लीड-1)

पेरिस, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। सायना नेहवाल ने यहां जारी फ्रेंच ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के पहले दौर में मिली संघर्षपूर्ण...

उत्तराखंड पंचायत चुनाव में रावत व योगी के गृह जनपद में भाजपा पर भारी पड़ी कांग्रेस

देहरादून 23 अक्टूबर, (आईएएनएस)। उत्तराखंड में हुए पंचायत चुनाव में सबसे चौंकाने वाला नतीजा पौड़ी जिले का रहा है। यहां जिला पंचायत सीटों के...

गैर-तेल क्षेत्र की कंपनियों के लिए भी खुला पेट्रोल, डीजल की बिक्री का द्वार

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल की खुदरा बिक्री के नियमों को सरल बनाते हुए बुधवार को सभी कंपनियों...

रविदास मंदिर पर ओछी राजनीति कर रही कांग्रेस और आप : भाजपा

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर,(आईएएनएस)। दिल्ली के तुगलकाबाद में रविदास मंदिर के मुद्दे पर भाजपा ने आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पर ओछी राजनीति करने...

रविदास मंदिर पर ओछी राजनीति कर रही कांग्रेस और आप : भाजपा

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर,(आईएएनएस)। दिल्ली के तुगलकाबाद में रविदास मंदिर के मुद्दे पर भाजपा ने आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पर ओछी राजनीति करने...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -