Sun. May 19th, 2024
    yuvraj dhoni

    युवराज सिंह जो कि पिछले आईपीएल सीजन में पंजाब किंग्स-11 की तरफ से खेले थे उनका इस सीजन भी पंजाब से खेलना पक्का नहीं हैं क्योंकि टीम नें इस बार उनका टीम से कांट्रेक्ट खत्म कर दिया हैं।

    यह अनुभवी ऑलराउंडर जो की पहले खेल का एक बहुत प्रभावशाली खिलाड़ी था, जो कि कुछ सालो से लेकर अपने फार्म के कारण चिंता में हैंं औऱ उनकी फिटनेस भी पहले कुछ सालो से बिगड़ गई हैं।

    तो वही उनके फैंस का कहना हैं कि अगर वह सीजन-12 में चेन्नई की टीम के द्वारा खरीदे जाते हैं तो वह जल्द ही टीम इंडिया में अपनी वापसी कर सकते हैं।

    युवराज सिंह ने 2007 औऱ 2011 में आईसीसी विश्वकप में बॉल और बैट के साथ टीम के लिए बहुत बेहतरीन प्रदर्शन दिया था।

    वह आईपीएल में अच्छे प्रदर्शन दे पान के कारण टीम में भी नहीं आ पा रहे हैं औऱ कोई भी टीम युवराज को अपनी टीम में खरीदने को तैयार हैं। उन्हें पिछले चार सालो में चार अलग-अलग आईपीएल फ्रेंचाइजी नें अपनी टीम में लिया लेकिन वह अपना प्रदर्शन देने मे नाकाम रहें।

    किंग्स -11 पंजाब की टीम ने उन्हे पिछले साल 2 करोड़ में खरीदा था लेकिन वह टीम में कहीं गुम दिखाई दिये उन्हें पंजाब की तरफ से पिछले सीजन पूरे मैच भी नही खिलाए गए क्योंकि वह बल्लेबाजी में अपने बैट से रन नही जुटा पा रहे थे और इसकी वजह से वह इस साल भी भारतीय नेशनल टीम में जगह नही बना पाए।

    ऐसे में युवराज के प्रशंसकों का कहना हैं कि अगर वह धोनी की टीम चेन्नई से जुड़ जाते है तो धोनी पहले वाले युवराज की फार्म वापस ला सकते हैं औऱ यह ऑलराउंडर चेन्नई की टीम को और मजबूत बना सकते हैं।

    युवराज नें पिछले सीजन पंजाब की तरफ से 8 मैच खेले जिसमें उन्होनें 10.83 की औसत से केवल 65 रन ही बनाए। यह बेहद असंभव हैं कि सीएसके सीजन-12 में उनके लिए बोली लगाएगी क्योंकि टीम के पास पहले से ही रवींद्र जडेजा, शेन वॉटसन, मिट्चेल सेंटनर, ब्राबो और केदार जाधव जैसे आलराउंडर हैं।

    By अंकुर पटवाल

    अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *