दहेज प्रताड़ना के आरोपों की सुनवाई के लिए मोहम्मद शमी की तारीख विश्व कप के बीच में

मोहम्मद शमी

कोलकाता पुलिस ने गुरुवार को भारतीय टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी के खिलाफ चार्जशीट दायर की है। जिसमें उनकी पत्नी हसीन जाहान ने उनके ऊपर दहेज के लिए अत्याचार के आरोप लगाए है। पुलिस सूत्रो को कहना है करीब 25-30 लोगो ने इस संदर्भ में अपने बयान रिकॉर्ड करवाए है।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, “शमी पर धारा 498 ए (दहेज के लिए अत्याचार) का आरोप लगाया गया है। उनके भाई हसीब अहमद पर धारा 498ए और 354ए (यौन उत्पीड़न) के तहत आरोप लगाया गया है।”

शमी को कोर्ट से समन मिला है और उन्हे कोर्ट की अगली सुनवाई 22 जून के दौरान उपस्थित होना पड़ेगा, जो तारीख विश्वकप के बीच में पड़ रही है। शमी इस समय भारतीय वनडे टीम का नियमित हिस्सा है, इसी के साथ विश्वकप के लिए अंतिम टीम की घोषणा अगले महीने होनी है।

उनकी पत्नी की शिकायत पर कोलकाता पुलिस ने शमी के ऊपर 8 मार्च को पिछले साल एफआईआर दर्ज की थी। जहान ने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ राज्य विधानसभा परिसर में मुलाकात की और उन्हें एक अपील सौंपी। शमी और जाहान ने 4 अप्रैल, 2014 में शादी की थी, उसके दो साल बाद वह कोलकाता नाइट राइ़डर्स की एक पार्टी में मिले थे।

विवाद के बाद, शमी पर बीसीसीआई की भ्रष्टाचार-निरोधी इकाई द्वारा जांच का भी आरोप लगाए गए थे, क्योंकि उनकी पत्नी ने इंग्लैंड के एक व्यवसायी मोहम्मद भाई के आग्रह पर अलीश्बा नाम की पाकिस्तानी महिला से धन प्राप्त करने का आरोप लगाया था। हालांकि, बीसीसीआई ने उन्हें क्लीन चिट दे दी थी।

शमी के वकील, सलीम रहमान ने कहा कि बलात्कार (शमी के बड़े भाई द्वारा कथित रूप से), हत्या के प्रयास और शारीरिक हमले के तीन प्रमुख आरोप हटा दिए गए हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here