Thu. Jun 13th, 2024
    मोहम्मद शमी

    यह जून 2018 था जब मोहम्मद शमी का पूरी तरह से संतुलित अंतरराष्ट्रीय कैरियर ट्रैक पर आ रहा था। कुछ महीने पहले, उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर भारत के लिए अभिनय किया था, इससे पहले कि उनकी पत्नी हसीन जहां का घेरलू मामले से उनके जीवन में मुश्किले पैदा करती।

    उसके बाद शमी के लिए मुश्किल बढ़ती चली गई क्योंकि वह पहले दिल्ली कैपिटल्स के लिए आईपीएल में शानदार प्रदर्शन नही कर पा रहे थे और बाद वह अफगानिस्तान के खिलाफ एकमात्र टेस्ट खेलने के लिए दिए गए यो-यो टेस्ट को पास करने में नाकाम रहे।

    लेकिन दाएं-हाथ के तेज गेंदबाज ने अपनी परेशानियो को अपने ऊपर ज्यादा हावी नही होने दिया और जल्दी अपनी फिटनेस पर काम करना शुरु किया और उसके बाद यो-यो टेस्ट पास करके इंग्लैंड दौरे के लिए टेस्ट टीम में जगह बनाई। और वास्तव में वह अब अपने करियर के सबसे अच्छे चरण में है। उन्होने अपने प्रदर्शन से केवल टेस्ट मैच में ही प्रदर्शन नही किया बल्कि एकदिवसीय क्रिकेट में भी टीम के लिए शानदार प्रदर्शन किया और उनके इस प्रदर्शन की वजह से उनको विश्वकप की टीम में जगह दी गई है। शमी मौजूदा आईपीएल में भी शानदार प्रदर्शन कर रहे है। अब तक खेले 12 मैचो में उन्होने 16 विकेट लिए है और पंजाब की टीम से सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज है।

    किंग्स इलेवन पंजाब के फिजियो ब्रेट हैरोप ने अब उस रहस्य पर से पर्दा उठा दिया है जिसने शमी की फिटनेस और प्रदर्शन में बदलाव को बढ़ावा दिया है। हारोप ने कहा है कि वजन कम करना और शरीर में बहुत सुधार करना, मोड़ में बड़ी भूमिका निभाता है। उन्होंने कहा कि दुबले होने से शमी को किसी भी चोट से बचने में मदद मिली है।
    हैरोप ने इंडिया टीवी के माध्यम से कहा, “तथ्य यह है कि वह दुबले है और उनकी शरीर रचना बेहतर है, जिसने उसे चोट-मुक्त होने में एक बड़ी भूमिका निभाई है। यह (चोट-मुक्त होना) एक स्नोबॉल का भी प्रभाव है। जब आपको कम चोट लगती है, तो आप अधिक खेलते हैं और जितना अधिक आप खेलते हैं, यह आपको अधिक मजबूत बनाता है और आपको चोट लगने की संभावना कम होती है। इसलिए वह (बेहतर शरीर रचना) निश्चित रूप से यही कारण है कि वह अतीत की तुलना में बेहतर स्थिति में है।”
    मोहम्मद शमी और किंग्स इलेवन पंजाब के ओपनर बल्लेबाज केएल राहुल विश्वकप की टीम का हिस्सा है। और हैरोप ने इन दोनो खिलाड़ियों के ऊपर अपडेट देते हुए कहा है कि यह दोनो खिलाजड़ी राष्ट्रीय निकाय के निर्देशो का पालन करते है। ऑस्ट्रेलियाई ने यह भी खुलासा किया कि राष्ट्रीय निकाय विश्व कप के खिलाड़ियों की गतिविधियों पर कड़ी नजर रख रहे हैं।
    “मुख्य बात (इस सीज़न) में राष्ट्रीय निकायों की दिलचस्पी रही है, जो अपने कार्यक्रम के बारे में पूछते रहे हैं और उनकी यात्रा कैसी रही है, राष्ट्रीय टीम के फिजियो के साथ उनका संवाद। इसके अलावा मैंने कुछ ज्यादा गौर नहीं किया है। सभी संबंधित खिलाड़ियों को पता है कि यह विश्व कप वर्ष है, लेकिन साथ ही साथ वे आईपीएल में अपने काम पर भी केंद्रित हैं।”

    By अंकुर पटवाल

    अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *