सोमवार, जनवरी 20, 2020

जी-7 सम्मेलन से पूर्व मोदी-मैक्रॉन करेंगे मुलाकात: विजय गोखले

Must Read

छत्तीसगढ़ : बीजापुर के जंगलों में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ में एक महिला नक्सली ढेर

छत्तीसगढ़ में बीजापुर के जंगली इलाके में पुलिस और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने एक मुठभेड़ में एक...

केरल : मंत्रीमंडल ने राज्य में एनपीआर और एनआरसी को लागू नहीं करने को मंजूरी दी

नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के खिलाफ अपना रुख सख्त करते हुए केरल मंत्रिमंडल ने सोमवार को विशेष बैठक करने...

लीबिया : पाइपलाइन बंद होनें से प्रभावित हुई कच्चे तेल की आपूर्ति, 10 दिनों की ऊंचाई पर पहुंची कीमत

तनावग्रस्त लीबिया से कच्चे तेल की आपूर्ति प्रभावित होने से सोमवार को तेल के दाम में एक फीसदी से...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

भारत के प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति इम्मानुएल मैक्रॉन फ्रांस में आयोजित जी-7 के सम्मेलन से पूर्व मुलाकात करेंगे। भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने यह बयान दिया है। फ्रांस राष्ट्रीय दिवस के आयोजन को संबोधित करते हुए विजय गोखले ने कहा कि “हमारे दोनों नेताओं ने निर्णय लिया था कि वह बिअर्रित्ज़ सम्मेलन से पूर्व मुलाकात करेंगे ताकि भारत-फ्रांस संबंधों को अधिक मज़बूत कर सके।

उन्होंने कहा कि “हम उसयुग में हैं जहां हमारे ऐतिहासिक सौहार्दपूर्ण संबंधों को हमारे नेताओं राष्ट्रपति मैक्रॉन और प्रधानमन्त्री मोदी ने और अधिक मज़बूत बना दिया है। जी-7 का सम्मेलन हमारे नेताओं को अधिक समृद्ध विश्व के निर्माण के लिए एक मंच मुहैया करेगा।”

फ्रांस में राष्ट्रीय दिवस का आयोजन शुक्रवार को किया गया था इस समारोह में भारत के लिए फ्रांस के राजदूत अलेक्सेंडर ज़ेग्लेर ने अपने संबोधन के दौरान अपने कार्यकाल के अंत की तरफ इशारा किया था।

राजदूत ने कहा कि “देवियों और सज्जनों, यह चौथी दफा है जब मैं आपके साथ राष्ट्रीय दिवस का जश्न मना रहा हूँ और शायद यह आखिरी दफा हो। मैं कहना चाहता हूँ कि मैं अधिक उत्साह और ऊर्जा से भर चुका हूँ। मैं इस देश और यहा के लोगो के प्रति आकर्षण से भरा हुआ हूँ और मैं जानता हूँ कि भारत के बगैर हम कुछ भी हासिल नहीं कर सकते हैं।”

इस समरोह में गोखले और ज़ेग्लेर ने भारत और फ्रांस की दोस्ती पर जोर दिया था। इस समारोह में अन्य देशों के राजदूत भी शामिल थे। उन्होंने दोनों देशों के बीच करीबी संबंधों को रेखांकित किया था, विशेषकर आतंकवाद से लड़ने में। भारत और फ्रांस ने हाल ही में मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी सूची में शामिल करने के लियए करीबी से कार्य किया था।

फ्रांस के राष्ट्रीय दिवस का आयोजन 14 जुलाई को किया जाता है और यह फ्रांस में अवकाश का सबसे बड़ा अवसर होता है। इसका आयोजन साल 1789 से आयोजित किया जा रहा है, जिसे पारंपरिक तौर से फ्रांस का प्रतिक माना जाता है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

छत्तीसगढ़ : बीजापुर के जंगलों में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ में एक महिला नक्सली ढेर

छत्तीसगढ़ में बीजापुर के जंगली इलाके में पुलिस और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने एक मुठभेड़ में एक...

केरल : मंत्रीमंडल ने राज्य में एनपीआर और एनआरसी को लागू नहीं करने को मंजूरी दी

नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के खिलाफ अपना रुख सख्त करते हुए केरल मंत्रिमंडल ने सोमवार को विशेष बैठक करने के बाद जनगणना आयुक्त को...

लीबिया : पाइपलाइन बंद होनें से प्रभावित हुई कच्चे तेल की आपूर्ति, 10 दिनों की ऊंचाई पर पहुंची कीमत

तनावग्रस्त लीबिया से कच्चे तेल की आपूर्ति प्रभावित होने से सोमवार को तेल के दाम में एक फीसदी से ज्यादा की तेजी आई। अंतर्राष्ट्रीय...

मौसम की जानकारी : हिमाचल प्रदेश में कड़ाके की ठंड जारी, अधिक बर्फबारी की संभावना

हिमाचल प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में सोमवार को शीतलहर और कड़ाके की ठंड जारी है। मौसम विभाग ने अपने अनुमान में राज्यभर में और...

हवाई : होनोलुलु में गोलीबारी, दो पुलिस अधिकारियों की मौत

हवाई की राजधानी होनोलुलु में गोलीबारी की घटना में दो पुलिस अधिकारी मारे गए। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, हवाई न्यूज नाउ के हवाले...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -