दा इंडियन वायर » समाचार » प्रधानमंत्री मोदी की मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक: 11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक टीका उत्सव मनाने का सुझाव
समाचार स्वास्थ्य

प्रधानमंत्री मोदी की मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक: 11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक टीका उत्सव मनाने का सुझाव

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) से हर दिन हालात बिगड़ते ही जा रहे हैं। रोज संक्रमण के मामलों का नया रिकॉर्ड बन रहा है। पिछले 24 घंटे के अंदर देश में 1 लाख 31 हजार 878 लोग संक्रमित पाए गए। पिछले साल वायरस के शुरू होने से लेकर अब तक एक दिन के अंदर मिले मरीजों की ये संख्या सबसे अधिक है। इसके पहले बुधवार को देश में सबसे ज्यादा 1 लाख 26 हजार 276 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।

बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की। बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने देश में कोरोना महामारी की स्थिति की समीक्षा की और संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए राज्यों को सलाह दी। पीएम ने कोरोना कर्फ्यू के नाम से नाइट कर्फ्यू लगाने, टेस्टिंग बढ़ाने, 11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक टीका उत्सव मनाने का सुझाव दिया।

नहीं लगेगा पूर्ण रूप से लॉकडाउन

मीटिंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे के अलावा विभाग के बड़े अधिकारी मौजूद रहे। प्रधानमंत्री ने कुछ राज्यों में बढ़ते मामलों पर गंभीर चिंता जताई। लेकिन प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि अभी संपूर्ण लॉकडाउन लगाने की स्थिति नहीं है। दवाई भी और कड़ाई भी, दोनों की जरूरत है। पीएम मोदी ने सलाह दी कि माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर ज्यादा जोर देना चाहिए, शहर में छोटे-छोटे कंटेनमेंट जोन बनें, पूरा ज़ोर माइक्रो कंटनमेंट जोन पर होना चाहिए।

टेस्टिंग पर हो ज़ोर

प्रधानमंत्री मोदी ने नाइट कर्फ्यू को प्रभावी बताते हुए राज्यों को सलाह दी कि इसे कोरोना कर्फ्यू के तौर पर लागू करना चाहिए। इससे लोगों में जागरूकता बढ़ेगी। पीएम ने कहा कि अब हमारे पास संसाधनों के साथ-साथ अनुभव भी है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि “वैक्सीन से ज्यादा टेस्टिंग पर जोर दिया जाना चाहिए। हम टेस्टिंग भूलकर वैक्सीन पर चले गए हैं। हमने लड़ाई सिर्फ टेस्टिंग से जीती थी, तब वैक्सीन नहीं थी। पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना ऐसी चीज है जिसे जबतक आप बाहर से लेकर नहीं आएंगे, तबतक वह नहीं आएगा। इसलिए टेस्टिंग और ट्रेसिंग बढ़ाने की जरूरत है।”

साथ ही उन्होंने कहा, “हमने पिछली बार कोविड का आंकड़ा 10 लाख ऐक्टिव केसेज से सवा लाख से नीचे लाकर दिखा दिया था। यह जिस रणनीति पर चलते हुए संभव हुआ वह आज भी उतना ही सटीक है। तब संसाधन भी कम थे मगर आज संसाधन भी ज्यादा है और अनुभव भी ज्यादा है।”

मनाएं टीका उत्सव

पीएम मोदी ने कहा कि 11 अप्रैल को ज्योतिबा फुले जी की जयंती है, 14 अप्रैल को अंबेडकर जी की जयंती है। 11 अप्रैल से 14 अप्रैल के बीच हमें टीका उत्सव मनाएं। इस दौरान वैक्सीन की बर्बादी शून्य हो। अधिक से अधिक वैक्सीनेशन हो। इससे वातावरण बदलने में काफी मदद मिलेगी। केंद्र सरकार पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन की सप्लाई सुनिश्चित करेगी। ”मैं देश के युवाओं से भी आग्रह करूंगा कि वे आस-पास के 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को टीका लगवाने का प्रयास करें। अगर मेरे देश का नौजवान नेतृत्व करेगा तो जरूर कामयाबी मिलेगी।”

About the author

आदित्य सिंह

दिल्ली विश्वविद्यालय से इतिहास का छात्र। खासतौर पर इतिहास, साहित्य और राजनीति में रुचि।

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!