गुरूवार, अक्टूबर 24, 2019

मैरीकॉम, अमित पंघाल इंडियन ओपन में एक नई चुनौती के लिए तैयार

Must Read

दिल्ली : कानून का चाबुक चला तो दमे के मरीज-बुजुर्ग भी रौशन कर लेंगे दिवाली (आईएएनएस एक्सक्लूसिव)

नई दिल्ली, 24 अक्टूबर (आईएएनएस)। कानून और पुलिस का चाबुक अगर कायदे से चल गया तो राष्ट्रीय राजधानी में...

उप्र : उपचुनाव के नतीजे विपक्षियों के भविष्य का करेंगे फैसला

लखनऊ , 24 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में 11 सीटों पर हुए विधानसभा उपचुनाव के नतीजे समाजवादी पार्टी (सपा),...

बैडमिंटन : सायना की संघर्षपूर्ण जीत, कश्यप, श्रीकांत और समीर पहले दौर में बाहर (लीड-1)

पेरिस, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। सायना नेहवाल ने यहां जारी फ्रेंच ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के पहले दौर में मिली संघर्षपूर्ण...
अंकुर पटवाल
अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

इंडियन ओपन बॉक्सिंग टूर्नामेंट के दूसरे संस्करण की शुरुआत आज (सोमवार) से गुवाहाटी में होने जा रहा है और भारत के मुक्केबाजो के पास इस टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन कर अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियो पर बढ़त बनाने का अच्छा मौका होगा। और देश के कुछ प्रमुख मुक्केबाज जिन्होने टोक्यो ओलंपिक के लिए अपनी भजन श्रेणी में बदलाव किया है उनके लिए इस टूर्नामेंट में अपनी नई वजन श्रेणी में खुद को साबित करने का मौका होगा।

जैसा कि गुवाहाटी 16 देशों के 200 मुक्केबाजों की मेजबानी करने के लिए तैयार है, उस सूची में शीर्ष पर भारत की मुक्केबाजी रानी और छह विश्व खिताबों की दिग्गज खिलाड़ी एमसी मैरी कॉम होंगी। मणिपुर बॉक्सर 48 किग्रा लाइट फ्लाइवेट श्रेणी से फ्लाइवेट (51 किग्रा) पर स्विच करने के बाद पहले प्रतिस्पर्धी स्वाद प्राप्त करने के लिए टूर्नामेंट का उपयोग करेगी।

लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता ने रविवार को कहा, ” मेरे लिए वजन श्रेणी में कोई ज्यादा बदलाव नही है। चूंकि मुझे वर्षों से दोनों श्रेणियों में प्रतिस्पर्धा का अनुभव है।”

” इस वजन श्रेणी में इंडियन ओपन में प्रदर्शन करने से मुझे आगे आने वाले विश्व चैंपियनशिप टूर्नामेंट के लिए ज्यादा अनुभव प्राप्त होगा और इससे मुझे ओलंपिक कोटा प्राप्त करने में भी आसानी होगी।”

उनके नक्शेकदम पर चलकर, खेल में सर्वश्रेष्ठ उभरती हुई भारतीय प्रतिभा होगी, अमित पंघाल, जिन्हें अपना वजन 49 किलोग्राम से 52 किलोग्राम करने के लिए मजबूर होना पड़ा।

भारतीय मुक्केबाजी का पोस्टर बॉय इस साल एशियाई खेलों में अपनी सबसे बड़ी सफलता के साथ लाइट फ्लाईवेट में एक वर्ष से अधिक समय तक अपने करियर के चरम पर रहा है, जहां उसने रियो स्वर्ण पदक विजेता और 2017 के विश्व विजेता उज्बेकिस्तान के हसनबॉय दुस्मतोव को हराया।

इन दोनो मुक्केबाजो के अलावा जो नई वजन श्रेणी में प्रतिस्पर्धा करेंगे उनमें सिमरनजीत कौर (60 किग्रा), पूजा रानी (75 क्रिगा) और मनीषा मौन (57 क्रिगा) के अलावा और भी कई मुक्केबाज शामिल है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

दिल्ली : कानून का चाबुक चला तो दमे के मरीज-बुजुर्ग भी रौशन कर लेंगे दिवाली (आईएएनएस एक्सक्लूसिव)

नई दिल्ली, 24 अक्टूबर (आईएएनएस)। कानून और पुलिस का चाबुक अगर कायदे से चल गया तो राष्ट्रीय राजधानी में...

उप्र : उपचुनाव के नतीजे विपक्षियों के भविष्य का करेंगे फैसला

लखनऊ , 24 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में 11 सीटों पर हुए विधानसभा उपचुनाव के नतीजे समाजवादी पार्टी (सपा), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और...

बैडमिंटन : सायना की संघर्षपूर्ण जीत, कश्यप, श्रीकांत और समीर पहले दौर में बाहर (लीड-1)

पेरिस, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। सायना नेहवाल ने यहां जारी फ्रेंच ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के पहले दौर में मिली संघर्षपूर्ण जीत के बाद दूसरे दौर...

उत्तराखंड पंचायत चुनाव में रावत व योगी के गृह जनपद में भाजपा पर भारी पड़ी कांग्रेस

देहरादून 23 अक्टूबर, (आईएएनएस)। उत्तराखंड में हुए पंचायत चुनाव में सबसे चौंकाने वाला नतीजा पौड़ी जिले का रहा है। यहां जिला पंचायत सीटों के...

गैर-तेल क्षेत्र की कंपनियों के लिए भी खुला पेट्रोल, डीजल की बिक्री का द्वार

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल की खुदरा बिक्री के नियमों को सरल बनाते हुए बुधवार को सभी कंपनियों...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -