Sat. Dec 2nd, 2023

    एंटीगुआ और बारबुडा से हाल में फरार हुए भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को पड़ोस के डोमिनिका में पकड़ लिया गया। उसके खिलाफ इंटरपोल ने ‘यलो नोटिस’ जारी किया था। स्थानीय मीडिया की खबरों में बुधवार को इस बारे में बताया गया।

    मंगलवार रात (स्थानीय समयानुसार) को डोमिनिका में चोकसी की गिरफ्तारी की खबरों के बाद ब्राउने ने स्थानीय मीडिया से कहा कि उन्होंने डोमिनिका के प्राधिकारियों को चोकसी को भारत प्रत्यर्पित करने के स्पष्ट निर्देश दिए हैं। एक मीडिया संगठन के साथ प्रधानमंत्री ब्राउने की बातचीत के हवाले से कहा, ‘हमने कहा है कि वे उसे एंटीगुआ प्रत्यर्पित न करें। उसे भारत लौटाने की जरूरत है जहां वह अपने खिलाफ लगे आपराधिक आरोपों का सामना कर सके।’

    एएनआई को दिए इंटरप्यू में प्रधानमंत्री ब्राउनी ने कहा कि डोमिनिका मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण पर सहमत हो गया है और एंटीगुआ उसे वापस स्वीकार नहीं करेगा। एंटीगुआ के प्रधानमंत्री ब्राउनी ने कहा कि उन्होंने डोमिनिका में पीएम स्केरिट और कानून प्रवर्तन से मेहुल चोकसी को एंटीगुआ नहीं लौटाने का अनुरोध किया है, जहां उन्हें नागरिक के रूप में कानूनी और संवैधानिक सुरक्षा प्राप्त है

    एंटीगुआ का नागरिक है मेहुल चोकसी

    उन्होंने कहा कि हमने डोमिनिकन सरकार से अनुरोध किया है कि उसे हिरासत में लिया जाए और उसे भारत वापस करने के लिए व्यवस्था की जाए। हम चोकसी को वापस नहीं लेंगे। उन्होंने आगे कहा ‘वह डोमिनिका में पाया गया। संभवतः उसने नावों के जरिए अवैध रूप से डोमिनिका में प्रवेश किया था। डोमिनिकन सरकार एंटीगुआ और भारतीय सरकारों के साथ सहयोग कर रही है। हमने डोमिनिकन कानून प्रवर्तन एजेंसियों से अनुरोध किया है कि वह उसे एंटीगुआ न लौटाए, जहां एक नागरिक के तौर पर उसके पास कानूनी और संवैधानिक अधिकार हैं। हमने विशेष रूप से उनसे भारतीय कानून प्रवर्तन एजेंसियों को सीधे भारत लौटने के लिए आवश्यक व्यवस्था करने का अनुरोध किया है।

    मेहुल चोकसी के वकील का दावा है कि उसका मुवक्किल एंटीगुआ का नागरिक है। ऐसे में उसे यहां से लोगों को मिलने वाले सभी अधिकार प्राप्त हैं। एंटीगुआ कैरेबियाई देश है। मेहुल चोकसी को जिस देश में पकड़ा गया है, वह भी एंटीगुआ के पड़ोस में ही स्थित है। हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि आखिर मेहुल डोमिनिका क्यों गया?

    मेहुल के वकील कर रहे बात करने का प्रयास

    मेहुल चोकसी के वकील विजय अग्रवाल ने कहा कि मैंने उनके परिवार से बात की है। वे खुश हैं और राहत महसूस कर रहे हैं कि अब उनके ठिकाने का पता चल गया है। उनसे बात करने का प्रयास किया जा रहा है ताकि कोई स्पष्ट तस्वीर जान सके कि उन्हें डोमिनिका कैसे ले जाया गया।

    पीएनबी घोटाले का आरोपी है चोकसी

    चोकसी और उनके भतीजे नीरव मोदी पर कुछ बैंक अधिकारियों के साथ मिलकर पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के साथ कथित तौर पर 13,500 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने का आरोप है। नीरव मोदी अभी लंदन की एक जेल में बंद है। दोनों के खिलाफ सीबीआई जांच कर रही है।

    By आदित्य सिंह

    दिल्ली विश्वविद्यालय से इतिहास का छात्र। खासतौर पर इतिहास, साहित्य और राजनीति में रुचि।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *