दा इंडियन वायर » स्वास्थ्य » डॉक्यूमेंटरी के माध्यम से माहवारी स्वास्थ्य प्रबंधन पर चर्चा: यूनिसेफ
स्वास्थ्य

डॉक्यूमेंटरी के माध्यम से माहवारी स्वास्थ्य प्रबंधन पर चर्चा: यूनिसेफ

women's menstrual health

नई दिल्ली, 6 मई (आईएएनएस)| महिलाओं में मासिक स्वास्थ्य और स्वच्छता पर ध्यान दिलाने के लिए यूनीसेफ, नेटफ्लिक्स, यूएसएआईडी और अमेरिकी दूतावास ने संयुक्त रूप से भारत में अमेरिकन सेंटर में ऑस्कर विजेता लघु डॉक्यूमेंटरी ‘पीरियड. एंड ऑफ सेंटेंस’ की स्पेशल स्क्रीनिंग आयोजित की, और इसके बाद महिलाओं में मासिक स्वास्थ्य और स्वच्छता पर विशेषज्ञों ने चर्चा की।

राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण (2015-16) के अनुसार, भारत में 15-24 आयुवर्ग की सिर्फ 58 प्रतिशत महिलाएं मासिक धर्म में सुरक्षा के लिए स्वच्छ तरीका अपनाती हैं।

डॉक्यूमेंटरी ‘पीरियड. एंड ऑफ साइलेंस’ दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले के एक गांव की महिलाओं की कहानी बताती है, जो मासिक धर्म से संबंधित बुराइयों के खिलाफ लड़ने का फैसला करती हैं। इसमें महिलाओं को सशक्त करने वाले स्थानीय समाधानों पर ध्यान दिया गया है।

डॉक्यूमेंटरी की स्पेशल स्क्रीनिंग के बाद विशेषज्ञों के पैनल ने चर्चा की कि मासिक धर्म का स्वास्थ्य सिर्फ सरकारी प्रयासों से नहीं पाया जा सकता। मासिक धर्म से संबंधित जागरूकता के लिए समग्र भागीदारी और सेनेटरी पैड्स का स्वच्छता के साथ उत्पादन करने की जरूरत पर जोर दिया गया। इसके अलावा फिल्मों को गांव-गांव दिखाने की जरूरत पर भी जोर दिया गया।

महिलाओं में मासिक धर्म स्वच्छता जागरूकता फैलाने के लिए यूनीसेफ के साथ काम कर रही ‘जॉनसन एंड जॉनसन’ के मार्केटिंग के महाप्रबंधक अमीत पई ने कहा, “प्रौद्योगिकी का अभाव होने के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं को समझाने में शुरू में परेशानी आती थी, लेकिन अब ग्रामीण क्षेत्रों में भी मासिक धर्म के प्रति जागरूकता फैल रही है और वे रूढ़ियों को तोड़ रहे हैं।”

डॉक्यूमेंटरी का निर्माण भारतीय निर्माता गुनीत मोंगा की ‘सिख्या एंटरटेनमेंट’ ने किया है और इसका निर्देशन रायका जेहताब्ची ने किया है।

About the author

पंकज सिंह चौहान

पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!