Sat. Feb 4th, 2023
    mayawati

    लखनऊ, 13 मई (आईएएनएस)| बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कड़ा हमला बोला। मायावती ने कहा कि भाजपा के नेताओं की पत्नियां अपने पतियों को मोदी के करीब जाता देख बेहद घबरा जाती हैं।

    मायावती ने आज यहां पत्रकारों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बेहद गंभीर आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि मुझे पता चला है, “भाजपा में खासकर विवाहित महिलाएं अपने पतियों को मोदी के करीब जाता देखा घबरा जाती हैं। वह सब यह सोचती हैं कि कहीं यह मोदी अपनी औरत की तरह ही हमको भी हमारे पतियों से अलग न करवा दे।”

    बसपा मुखिया ने कहा, “भाजपा के लोग महिलाओं का सम्मान नहीं करते यहां तक कि राजनीतिक स्वार्थ के लिए पीएम मोदी ने अपनी पत्नी को भी छोड़ दिया।”

    उन्होंने कहा, “मोदी अगर राजनीतिक लाभ के लिए अपनी पत्नी को छोड़ सकते हैं तो फिर देश की मां व बहनों को वह कैसे न्याय दे सकते हैं। वह इनको कैसे सम्मान देंगे।”

    मायावती ने कहा, “मोदी अब दलितों का वोट पाने के लिए उनके प्रति सहानुभूति दिखा रहे हैं, जबकि भाजपा शासित राज्यों में वह दलित उत्पीड़न पर कुछ भी नहीं बोलते।”

    उन्होंने अलवर के गैंग रेप पर प्रधानमंत्री के शांत रहने पर भी निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि यहां पर भी वह राजनीतिक लाभ लेने के प्रयास में हैं। वह इस कारण नहीं बोल रहे हैं क्योंकि उनको लगता है कि उनके वोट का नुकसान होगा।

    उन्होंने कहा कि मोदी का दलित प्रेम नकली है, वह अलवर कांड की आड़ में घृणित राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने गुजरात के ऊना कांड में भी अपनी पार्टी के मुख्यमंत्री से इस्तीफा नहीं लिया और न ही रोहित वेमुला कांड में कैबिनेट मंत्री से इस्तीफा लिया था।

    मायावती ने कहा कि अगर अलवर कांड के आरोपियों पर कार्रवाई नहीं हुई तो राजस्थान सरकार से समर्थन वापस ले सकती हैं।

    गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने कल एक रैली में मायावती पर निशाना साधा और कहा था कि अलवर में एक दलित बेटी का उत्पीड़न हुआ लेकिन मायावती ने अब तक राजस्थान सरकार से समर्थन वापस नहीं लिया। इस पर मायावती अपनी प्रतिक्रिया दे रही थीं।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *