माइकल क्लार्क ने उस खिलाड़ी का खुलासा किया, जो विराट कोहली को खिताब जीता सकते है

0
भारतीय क्रिकेट टीम
bitcoin trading

2015 के विश्व कप विजेता कप्तान माइकल क्लार्क को लगता है कि जसप्रीत बुमराह का अद्भुत कौशल भारत को विश्व कप जीतने का एक यथार्थवादी मौका देता है, लेकिन डेविड वार्नर नामक “सनकी” इसे ऑस्ट्रेलिया के लिए बरकरार रख सकते है।

पीटीआई के साथ एक विशेष बातचीत में, ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान क्लार्क ने विस्तार में बताया क्यो भारत और ऑस्ट्रेलिया विश्वकप के खिताब पर कब्जा करने के लिए टॉप 3 टीम में है और उन्होने यह भी स्पष्ट किया कि प्रतिष्ठित खिताब पर मेजबान टीम टीम कब्जा नही कर पाएगी।

खेल खेलने वाले सबसे रमणीय बल्लेबाजों में से एक, क्लार्क बुमराह की किंवदंती के कारण विस्मय में है, जो दो साल से बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए आ रहे है।

क्लार्क ने कहा, ” मुझे लगता है कि उसके बुमराह के पास ऐसा कुछ नही है जो उनके नाम नही है। वह फिट और स्वस्थ है। मुझे उम्मीद है कि वह इस शानदार फॉर्म को जारी रखेंगे क्योंकि वह इस विश्वकप में भारत की सफलता में अहम भूमिका निभाएंगे।”

लेकिन बुमराह को ऑस्ट्रेलिया से काफी चुनौती मिलेगी, खासकर वार्नर, जिन्होंने छह मैचों में दो शतकों के साथ पहले ही 447 रन बना लिए हैं।

“मैंने डेविड से एक असाधारण प्रदर्शन की उम्मीद की क्योंकि वह एक असाधारण खिलाड़ी है। वह एक सनकी है। वह इस टीम में एक्स-फैक्टर है। अगर ऑस्ट्रेलिया विश्व कप जीतने के लिए जाता है, तो डेविड वार्नर मेरी राय में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी होंगे।”

इस सवाल पर कि बुमराह ने बल्लेबाजों के लिए इस तरह के मुश्किल प्रस्ताव को क्या समझा, क्लार्क ने कहा, “एकदम नई गेंद के साथ, वह स्विंग और सीम कर सकते हैं। जब गेंद बीच के ओवरों में कुछ नहीं कर रही होती है, तो उसके पास बल्लेबाजों को परेशान करने की अतिरिक्त गति होती है।”

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान ने कहा, ” वह 150 की गति से गेंद फेंकते है और फिर डेथ में, वह यार्कर फेंकते है जैसे कोई और नही फेंक सकता। और अगर वहां उन्हे रिवर्स स्विंग मिलती है, तो वह अपना जल्वा बिखेर सकते है।”

विराट कोहली या उस मामले के लिए कोई भी कप्तान क्लार्क के अनुसार बुमराह से बेहतर ’गो टू’ विकल्प की मांग नही कर सकता।

क्या बुमराह उतने ही अच्छे होंगे जितने वसीम अकरम अपने समय पर थे? “मुझे लगता वह हो सकते है। वह अच्छा है कि उसे अनुकूल करने के तरीके मिल गए हैं।”

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here