मसूद अज़हर को वैश्विक आतंकी न घोषित करना, क्षेत्रीय स्थिरता और शान्ति के खिलाफ होगा: अमेरिका

Must Read

कबीर सिंह के लिए पुरुष्कार ना मिलने पर शाहिद कपूर ने दिया यह जवाब

कल मंगलवार शाम को शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) ने ट्विटर पर अपने प्रशंसकों से बात करने की योजना बनायी...

सिक्किम के बाद लद्दाख में भारत और चीन की सेना में टकराव

सिक्किम में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प की खबरों के बाद उत्तरी सीमा पर दोनों देशों के...

औरंगाबाद में रेल के नीचे आने से 16 मजदूरों की मौत, 45 किमी की दूरी तय करने के बाद हुई घटना

महाराष्ट्र (Maharashtra) के औरंगाबाद (Aurangabad) शहर में शुक्रवार सुबह कम से कम 16 प्रवासी श्रमिक ट्रेन के नीचे कुचले...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

अमेरिका ने मंगलवार को कहा कि जैश ए मोहम्मद के सरगना मसूद अज़हर को वैश्विक आतंकी की फेरहिस्त में शामिल न कर पाना क्षेत्रीय स्थिरता और शान्ति के खिलाफ होगा। मंगलवार को शाम को यूएन सुरक्षा परिषद् इस महत्वपूर्ण निर्णय लेगा।

मसूद अज़हर को वैश्विक आतंकी सूची में शामिल करना

50 वर्षीय मसूद अज़हर की जेईएम पर भारत में कई आतंकी हमलों का आरोप लगा है। वह भारतीय संसद, पठानकोट, उरी व जम्मू के शिविरों, एयरफोर्स बेस और हाल ही में किये गए पुलवामा आतंकी हमलों में भी शामिल था। इस हमले 40 सीआरपीएफ के सैनिकों की मृत्यु हुई थी।

14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 सैनिकों की मृत्यु हो गयी थी। यूएनएससी के तीन स्थायी सदस्यों अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने मसूद अज़हर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए यूएन में प्रस्ताव रखा था। जिसके तहत अज़हर पर सख्त प्रतिबन्ध लगाए जायेंगे।

चीन ने तीन बार मसूद अज़हर को वैश्विक आतंकी की सूची में शामिल करने पर अड़ंगा लगाया है। संयुक्त राष्ट्र नें जैश-ए-मोहम्मद को साल 2001 में वैश्विक अन्तराष्ट्रीय आतंकवादी संगठन घोषित कर दिया था। भारत के मुताबिक यूएन में मसूद अज़हर को बचाने वाला मात्र चीन ही है। मसूद अज़हर को 13 मार्च को यूएन वैश्विक आतंकी की सूची में शामिल कर देगा यदि कोई सदस्य इस पर आपत्ति दर्ज नहीं करेगा।

अमेरिका का बयान

मंगलवार को अमेरिका के प्रवक्ता रोबर्ट पालडिनो ने पत्रकारों से कहा कि “ट्रम्प प्रशासन के समक्ष मसूद अज़हर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए पर्याप्त सबूत है। मसूद अज़हर जेईएम का संस्थापक और सरगना है। जेईएम कई आतंकी हमलों में शामिल है और यह क्षेत्रीय स्थिरता और शान्ति के लिए खतरा है।”

भारत और अमेरिका आतंक विरोधी प्रयासों को अंजाम देने के लिए एकजुटता से कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि “जैश ए मोहम्मद और उसके संस्थापक के लिए हमारे विचार स्पष्ट है। यूएन के विचार विमर्श गोपनीय होते हैं, इसलिए मैं इस पर टिप्पणी नहीं कर सकता हूँ। लेकिन हम सैंक्शन कमिटी के साथ सूची को अपग्रेड करने के लिए कार्य करते रहेंगे।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

कबीर सिंह के लिए पुरुष्कार ना मिलने पर शाहिद कपूर ने दिया यह जवाब

कल मंगलवार शाम को शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) ने ट्विटर पर अपने प्रशंसकों से बात करने की योजना बनायी...

सिक्किम के बाद लद्दाख में भारत और चीन की सेना में टकराव

सिक्किम में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प की खबरों के बाद उत्तरी सीमा पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच टकराव की...

औरंगाबाद में रेल के नीचे आने से 16 मजदूरों की मौत, 45 किमी की दूरी तय करने के बाद हुई घटना

महाराष्ट्र (Maharashtra) के औरंगाबाद (Aurangabad) शहर में शुक्रवार सुबह कम से कम 16 प्रवासी श्रमिक ट्रेन के नीचे कुचले गए, जब वे मध्य प्रदेश...

भारत में कोरोनावायरस के आंकड़े 50,000 के पार, महाराष्ट्र में सबसे भयानक स्थिति

भारत (India) में कोरोनावायरस (Coronavirus) से संक्रमित लोगों की संख्या में पिछले दो दिनों में 14 फीसदी की वृद्धि देखि गयी है। यह आंकड़ा...

कोरोनावायरस अपडेट: देश में 24 घंटों में सबसे तेजी से वृद्धि, कुल आंकड़ा 46,000 के पार

भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus) के मामलों में पिछले 24 घंटों में सबसे तेजी वृद्धि देखने को मिली है। पिछले 1 दिन में कुल आंकड़ों...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -