सोमवार, अप्रैल 6, 2020

मध्य प्रदेश चुनाव: भाजपा ने 53 बागियों को पार्टी से निकाला

Must Read

दिल्ली में 68 वर्षीय महिला की कोरोनोवायरस से मृत्यु, भारत में अबतक दूसरी मृत्यु

देश में वैश्विक महामारी से जुड़ी दूसरी मौत में शुक्रवार को दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की मौत...

‘बागी 3’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर नें होली पर जमकर की कमाई

टाइगर श्रॉफ की बागी 3 (Baaghi 3) ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में बॉक्स ऑफिस पर 53.83 करोड़ रुपये कमाए।...
आदर्श कुमार
आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

मध्य प्रदेश चुनाव से 13 दिन पहले सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी ने 53 विद्रोही नेताओं को अनुशासनहीनता के आरोप में पार्टी से निकाल दिया है। आगामी चुनावों से पहले बड़ा कदम उठाते हुए पार्टी ने सीनियर नेता सरताज सिंह, पूर्व मंत्री रामकृष्ण कुस्मारिआ और भिंड से विधायक नरेंद्र कुशवाहा को पार्टी से निष्काषित कर दिया है।

सरताज सिंह ने सेओनी-मालवा विधानसभा सीट से टिकट न मिलने के बाद रोते हुए पिछले हफ्ते कांग्रेस ज्वाइन कर लिया था और कांग्रेस ने उन्हें होशंगाबाद से उम्मीदवार घोषित कर दिया। सरताज सिंह दो बार विधायक रह चुके हैं। जबकि रामकृष्ण कुसमरिआ ने निर्दलीय चुनावी मैदान में उतरने का फैसला किया है।

पूर्व ग्वालियर मेयर समीक्षा गुप्ता, लता मेहसाकी, धीरज पटेरिया और राज कुमार यादव को भी पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया गया है। ग्वालियर की पूर्व मेयर समीक्षा गुप्ता ने तो खुद ही पार्टी छोड़ने की घोषणा कर दी। कुस्मारिआ की तरह गुप्ता भी निर्दलीय चुनाव लड़ेंगी।

सभी उम्मीदवारों के नाम घोषित होने के बाद भाजपा और कांग्रेस दोनों पार्टियों को बागियों से जूझना पड़ रहा है।

मध्य प्रदेश में विधानसभा की 230 सीटें हैं। दोनों पार्टियों का मानना है कि बागियों का चुनाव लड़ना कम से कम 30 सीटों पर असर डाल सकता है।

कार्यकर्ताओं के अलावा परिवार में भी टिकटन मिलने से बगावत छिड़ गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साले संजय सिंह ने दो हफ्ते पहले भाजपा से टिकट न मिलने पर कांग्रेस ज्वाइन कर लिया था और शिवराज चौहान की आलोचना करते हुए उन्हें हारने का प्रण लिया था।

जहाँ एक ओर 15 सालों से सत्ता में काबिज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने चौथे कार्यकाल के लिए कोशिश कर रहे हैं वही कांग्रेस मध्य प्रदेश में अपना 15 सालों का वनवास खत्म करने की कोशिश में है। लेकिन दोनों दलों के बागी उनका खेल बिगाड़ने के लिए कमर कस चुके हैं।

राज्य में 28 नवम्बर को वोट डाले जाएंगे जबकि 11 दिसंबर को चुनाव परिणाम की घोषणा की जायेगी।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

दिल्ली में 68 वर्षीय महिला की कोरोनोवायरस से मृत्यु, भारत में अबतक दूसरी मृत्यु

देश में वैश्विक महामारी से जुड़ी दूसरी मौत में शुक्रवार को दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की मौत...

एक विलेन 2: दिशा पटानी के बाद, तारा सुतारिया फिल्म से जुड़ी, जॉन अब्राहम और आदित्य रॉय कपूर भी होंगे फिल्म का हिस्सा

यह पहले बताया गया था कि जॉन अब्राहम 2014 की फिल्म, एक विलेन की अगली कड़ी बनाने के लिए बातचीत कर रहे थे। जनवरी...

‘बागी 3’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर नें होली पर जमकर की कमाई

टाइगर श्रॉफ की बागी 3 (Baaghi 3) ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में बॉक्स ऑफिस पर 53.83 करोड़ रुपये कमाए। 2 दिन में 16.03 करोड़...

महाराष्ट्र सरकार को कोई खतरा नहीं – कांग्रेस

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने बुधवार शाम को अपने सभी विधायकों की बैठक बुलाई है। राकांपा नेताओं ने कहा कि 26 मार्च को होने...

पीएम मोदी, राहुल गांधी ने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को उनके जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को उनके 78 वें जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं। पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा,...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -