Wed. Feb 8th, 2023
    नासा

    एक रेडियो टॉक शो में बात करते हुए नासा के प्रशाशक जिम ब्रिडेनस्टाइन ने बताया की मंगल गृह पर जाने वाला पहला मनुष्य एक महिला होगी। यह नासा के प्रशाशक ने साइंस फ्राइडे नामक साइंस एंड टेक्नोलॉजी रेडियो टॉक शो में बयान दिया।

    नासा प्रशाशक का पूरा बयान :

    रेडियो टॉकशो के दौरान जब उनसे पूछा गया की मंगल ग्रह पर जाने वाला मनुष्य महिला होगी तो उन्होंने जवाब दिया की पहला मनुष्य महिला होने की ज्यादा संभावनाएं है। हाल्नाकी उन्होंने उस महिला की जानकारी नहीं दी लेकिन यह बता दिया की मंगल पर सबसे पहले एक महिला मनुष्य जायेगी। उन्होंने यह भी बताया की नासा की आने वाली परियोजनाएं महिलाओं पर केन्द्रित होंगी।

    महिलओं के लिए यह बहुत श्रेष्ठ समय है। इसी महीने के अंत तक एक महिला स्पेसवाक करने वाली है। यह अंतर्राष्ट्रीय महिला माह है।

    अन्तरिक्ष में जाने वाली अगली मुनष्य भी महिला:

    मंगल मिशन के अलावा उन्होंने नासा की दूसरी परियोजनाओं के बारे में भी जानकारी दी जिसमे उन्होंने अन्तरिक्ष पर अगले नासा मिशन के बारे में बताया। इसके बारे में विस्तार से बताते हुए कहा की इस मिशन में भी महिला ही अन्तरिक्ष में जायेगी। अर्थात अगला अन्तरिक्ष पर जाने वाला मनुष्य भी एक महिला ही होगी। इसके साथ उन्होंने बताया की वे अन्तरिक्ष में जाकर स्पेसवाक भी करेंगी।

    मंगल गृह पर और चाँद पर महिला अंतरिक्षयात्रियों को भेजने की योजनाओं से पता चल रहा है की नासा सच में अपनी अगली योजनाओं में महिलाओं को अधिक महत्त्व दे रहा है।

    नासा में महिलाओं के आंकड़े :

    मैकक्लेन और कोच दोनों ही 2013 के अंतरिक्ष यात्री वर्ग का हिस्सा थे, जिनमें से आधी महिलाएं थीं। वे दूसरे सबसे बड़े आवेदक पूल से आए हैं जिसे नासा ने अब तक प्राप्त किया है – 6,100 से अधिक। नासा ने कहा कि फ्लाइट डायरेक्टर्स की सबसे हालिया क्लास भी 50 फीसदी महिलाएं थीं।

    नासा में पहली बार 1978 में महिलाएं आई थी जब इस आर्गेनाईजेशन से 6 महिलाएं जुडी थी। इसके बाद से नासा ने एक बड़ा सफ़र तय किया है और हाल ही की गणना से पता चला है की नासा की पूरी वर्कफाॅर्स में 34 प्रतिशत महिलाएं हैं।

    इस पर नासा के प्रशाशक ने कहा की हम यह सुनिश्चित करते हैं की हमारे पास एक जैसा नहीं विविध प्रतिभा हो। अभी हम चाँद पर भेजने के लिए महिला की तलाश कर रहे हैं।

    By विकास सिंह

    विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *