मंगलवार, अप्रैल 7, 2020

साल 2030 तक भारत को एक स्थिर और मजबूत सरकार की है जरूरत: राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल

Must Read

दिल्ली में 68 वर्षीय महिला की कोरोनोवायरस से मृत्यु, भारत में अबतक दूसरी मृत्यु

देश में वैश्विक महामारी से जुड़ी दूसरी मौत में शुक्रवार को दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की मौत...

‘बागी 3’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर नें होली पर जमकर की कमाई

टाइगर श्रॉफ की बागी 3 (Baaghi 3) ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में बॉक्स ऑफिस पर 53.83 करोड़ रुपये कमाए।...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने कहा कि भारत को आगामी दस वर्षों के लिए एक मज़बूत, स्थिर और निर्णायक सरकार की जरुरत है।

उन्होंने कहा कि ऐसी सरकार जो राजनीतिक, आर्थिक और रणनीतिक कार्यभार को संभाल सके और इससे डील कर सके। सुरक्षा सलाहकार ने बताया कि कमजोर गठबंधन देश के लिए हानिकारक सिद्ध होगा।

सरदार पटेल मेमोरियल लेक्चर के संबोधन में अजित डोभाल ने दावा किया कि बीते चार वर्षों में राष्ट्र हित के स्तर में वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र भारत की ताकत है और इसका संरक्षण जरुरी है। उन्होंने कहा कि एक कमजोर लोकतंत्र देश को शांत बना देगा और आगामी वर्षों में भारत शांत होना बर्दास्त नहीं कर सकता है क्योंकि आगामी सालों में भारत को सख्त निर्णय लेने होंगे।

अजित डोभाल ने कहा कि विनम्र ताकत का मतलब आपको झुककर समझौता करने के लिए तत्पर रहना होगा। उन्होंने कहा जब आप झुकने लगोगे तो आपके विरोधी आपकी इसी कमजोरी का फायदा उठाकर आपके राष्ट्र हित में दखलंदाजी करेंगे। उन्होंने कहा कि कमजोर सरकार सख्त फैसले लेने में हिचकिचाती है जो देश के लिए मुसीबत का सबब बन सकता है।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने कहा कि तरक्की के लिए भारत को कठोर निर्णय लेने ही होंगे। ऐसे फैसले जो जनता के लिए फायदेमंद हो न कि लोकलुभावन हो। उन्होंने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं है कि आगामी दस वर्षों के लिए भारत को एक स्थिर, मज़बूत और निर्णायक सरकार की जरुरत है। मज़बूत सरकार जो भारत के राष्ट्र, राजनीतिक, आर्थिक और रणनीतिक लक्ष्यों को भेद पाए।

आल इंडिया रेडियो द्वारा आयोजित कार्यक्रम में अजित डोभाल ने कहा कि अस्थिर सरकार वैश्विक स्तर पर राष्ट्र हित के संरक्षण की बजाये राजनीति और भ्रष्टाचार में ज्यादा रुचि लेगी। उन्होंने ब्राज़ील का उदाहरण देते हुए कहा कि ब्राज़ील की सरकार वैश्विक स्तर पर बेहतरीन है लेकिन राजीनीतिक अस्थिरता उनकी वृद्धि में रुकवाट पैदा कर रही है।

अजीत डोभाल ने कहा कि भारत एक कमजोर गठबंधन के साथ आगे नहीं बढ़ सकता है। भारत को साल 2030 तक एक निर्णायक नेतृत्व और निर्णायक सरकार की जरुरत है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

दिल्ली में 68 वर्षीय महिला की कोरोनोवायरस से मृत्यु, भारत में अबतक दूसरी मृत्यु

देश में वैश्विक महामारी से जुड़ी दूसरी मौत में शुक्रवार को दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की मौत...

एक विलेन 2: दिशा पटानी के बाद, तारा सुतारिया फिल्म से जुड़ी, जॉन अब्राहम और आदित्य रॉय कपूर भी होंगे फिल्म का हिस्सा

यह पहले बताया गया था कि जॉन अब्राहम 2014 की फिल्म, एक विलेन की अगली कड़ी बनाने के लिए बातचीत कर रहे थे। जनवरी...

‘बागी 3’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर नें होली पर जमकर की कमाई

टाइगर श्रॉफ की बागी 3 (Baaghi 3) ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में बॉक्स ऑफिस पर 53.83 करोड़ रुपये कमाए। 2 दिन में 16.03 करोड़...

महाराष्ट्र सरकार को कोई खतरा नहीं – कांग्रेस

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने बुधवार शाम को अपने सभी विधायकों की बैठक बुलाई है। राकांपा नेताओं ने कहा कि 26 मार्च को होने...

पीएम मोदी, राहुल गांधी ने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को उनके जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को उनके 78 वें जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं। पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा,...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -