दा इंडियन वायर » समाचार » Sputnik V: भारत में तीसरी वैक्‍सीन को मंजूरी
समाचार स्वास्थ्य

Sputnik V: भारत में तीसरी वैक्‍सीन को मंजूरी

रूस की कोरोना वैक्सीन – स्पुतनिक V – को सोमवार को विषय विशेषज्ञ समिति (एसईसी) की बैठक के बाद भारत में आपातकालीन उपयोग के लिए अनुशंसित किया गया है। अगर ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ़ इंडिया (डीसीजीआई) द्वारा अनुमोदित किया जाता है, तो स्पुतनिक V, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ़ इंडिया के कॉविशिल्ड और भारत बायोटेक के कोवाक्सिन के बाद भारत में उपलब्ध होने वाला तीसरा टीका होगा।

गौरतलब है कि नए कोरोना मामलों के हालिया रिकॉर्ड उछाल के बीच सिफारिश आई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, सोमवार को, भारत में वायरस के ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील वेरिएंट के 948 नए मामले मिले।

अभी तक इस वैक्सीन  की भारत में कीमत कितनी होगी यह स्‍पष्‍ट नहीं है। अन्य देशों में जहां इसे मंजूरी दी गई है वहां इसकी कीमत 10 डॉलर प्रति डोज से कम है। अभी फिलहाल इस वैक्सीन को लेकर सरकार की जो मौजूदा व्यवस्था चल रही है उसी आधार पर इसे लोगों के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। डॉ रेड्डी लैबोरेटरीज से 10 करोड़ डोज बनाने की डील हुई है। इसके अलावा आरडीआईएफ ने हेटरो बायोफार्मा, ग्‍लैंड फार्मा, स्‍टेलिस बायोफार्मा, विक्‍ट्री बायोटेक से 85 करोड़ डोज बनाने का भी करार कर रखा है।

वैक्सीन शोधकर्ताओं के अनुसार, इसे 2-8 डिग्री सेल्सियस तापमान के बीच स्‍टोर किया जा सकता है। यह वैक्‍सीन भी दो डोज में दी जाती है। पिछले दिनों भारत दौरे पर आए रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लॉवरोव ने कहा था कि रूसी पक्ष ने भारतीय कंपनियों के साथ कोविड-19 रोधी स्पुतनिक v टीके की 70 करोड़ खुराक के उत्पादन के लिये कई अनुबंध किये हैं। अब इस वैक्सीन को मंजूरी मिली है।

देश में कोरोना के रिकॉर्ड मामले आ रहे हैं। पिछले 24 घंटे में 1,68,912  नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,35,27,717 हो गई। 904 और लोगों की मौत होने के बाद संक्रमण से अब तक मारे गए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,70,179 हो गई।

देश में इस समय चार दिनों का टीका उत्सव चल रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में अब तक 10,45,28,565 टीके की खुराक दी जा चुकी है।

About the author

आदित्य सिंह

दिल्ली विश्वविद्यालय से इतिहास का छात्र। खासतौर पर इतिहास, साहित्य और राजनीति में रुचि।

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!