दा इंडियन वायर » व्यापार » भारत में विनिर्माण के लिए व्यावहारिकता का अध्ययन कर रही कैनन
व्यापार

भारत में विनिर्माण के लिए व्यावहारिकता का अध्ययन कर रही कैनन

canon

नई दिल्ली, 12 जून (आईएएनएस)| जापानी डिजिटल इमेजिंग कंपनी कैनन ने बुधवार को अपनी जी-सीरीज के पिंट्रर में उच्च गति वाला इंक टैंक प्रिंटर भारत में लांच किया।

इस मौके पर कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि कैनन भारत में अपने उत्पादों के विनिर्माण की संभावनाएं तलाशने के लिए अनुसंधान व व्यावहारिक अध्ययन में जुटी है।

कैनन इंडिया के प्रेसिडेंट व सीईओ काजुतदा कोबायाशी ने आईएएनएस से कहा, “इस समय हमारे सारे उत्पाद भारत से बाहर बनते हैं, लेकिन हम अनुसंधान व व्यावहारिक अध्ययन कर रहे हैं कि क्या भारत में विनिर्माण शुरू करना व्यावहारिक है।”

उन्होंने भारत को काफी अहम बाजार बताते हुए कहा कि कैनन इस साल भारतीय बाजार से राजस्व में 10 फीसदी की वृद्धि की उम्मीद कर रही है।

उन्होंने कहा, “2018 में हमारी कमाई 2,811 करोड़ रुपये थी और इस साल 10 फीसदी की वृद्धि का लक्ष्य है।”

इस अवसर पर ग्रुप एक्जिक्यूटिव, कंज्यूमर इंकजेट ग्रुप एवं एक्जिक्यूटिव ऑफिसर तमाकी होशिमोतो ने कहा, “भारत में कैनन के लिए इंकजेट बिजनेस में तीव्र वृद्धि हुई है और विस्तार के लिए यह हमारे सबसे प्रमुख बाजारों में से एक है। भारत में बिजनेस से हमें जो सीख मिली है, उससे हमें अपने नए उत्पादों के विकास के अपार अवसर मिल रहे हैं।”

उन्होंने कहा, “भारत में हमारा इंक टैंक का करोबार घरेलू और कार्यालय संबंधी उपयोग करने वाले ग्राहकों का मिश्रण है, जिससे हमें बी-टू-सी और बी-टू-बी सेगमेंट के बीच संतुलन बनाने का अवसर मिलता है।”

कैनन इंडिया का लक्ष्य भारत में इंक टैंक के कारोबार में 25 फीसदी की वृद्धि हासिल करना है। कंपनी ने 2019 में 12 फीसदी बाजार हिस्सेदारी हासिल करने का लक्ष्य रखा है।

About the author

पंकज सिंह चौहान

पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!