Thu. Dec 1st, 2022
    भारत और मालदीव

    भारत और मालदीव ने मंगलवार को अपराधिक मामले में संयुक्त कानूनी सहायता संधि पर हस्ताक्षर किये थे और साथ ही अपराधिक मामलों की जांच और मुकदमा चलाने में सहायता करने पर सहमति व्यक्त की है।

    जयशंकर 3 सितम्बर को आईओसी को संबोधित करने के लिए आये हैं और विदेश मंत्रालय के पदभार स्मभालने के बाद यह राष्ट्र की पहली यात्रा है। उनका इस्तकबाल राज्य मंत्री खलील और विदेश सचिव गफूर ने एअरपोर्ट पर किया था।

    बयान में कहा गया कि “दोनों मंत्रियों ने दिसंबर 2018, और जुलाई 2019 में राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलीह और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के बीच शिखर बैठकों के दौरान निर्धारित रूपरेखा के भीतर, मुलाकात के उच्च स्तर को जारी रखने की प्रतिबद्धता व्यक्त की है।”

    विदेश मंत्री ने माले के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद से मुलाकात की थी और संयुक्त हित के द्विपक्षीय और अंतरराष्ट्रीय मामलो पर चर्चा की थी।

    जयशंकर चौथे इंडियन ओसियन कांफ्रेंस में भी शरीक होंगे।

    मालदीव के विदेश मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, “बैठक के दौरान, दोनों मंत्रियों ने जारी विभिन्न सहयोग और नए क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने पर चर्चा की थी।”

    विदेश मंत्री ने मुलाकात के बाद कहा कि महासचिव सैय्यद बदर बिन हमद अलबुसैदी के साथ गर्मजोशी से मुलाकात हुई थी। उन्होंने ट्वीट किया कि “हमारी रणनीतिक साझेदारी को महत्व दें। एक साथ मिलकर काम करने के लिए प्रतिबद्ध है।”

     

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *