Sat. Nov 26th, 2022
    फवाद चौधरी

    पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने ट्वीट कर कहा कि “पाकिस्तानी प्रधानमन्त्री इमरान खान भारत के लिए हवाई मार्ग को पूरी तरह बंद करने पर विचार कर रहे हैं।” जम्मू कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जे को निष्प्रभावी करने के बाद पाकिस्तान बौखलाया हुआ है।

    उन्होंने ट्वीट किया कि “पीएम भारत के लिए एयरस्पेस को पूरी तरह से बंद करने पर विचार कर रहे हैं, अफगानिस्तान में भारतीय व्यापार के लिए पाकिस्तान की सरजमीं के इस्तेमाल पर भी पूर्ण प्रतिबंध लगाने का सुझाव कैबिनेट की बैठक में दिया गया है। इन फैसलों के लिए कानूनी औपचारिकताओं पर विचार किया जा रहा है। मोदी ने शुरू किया, हम खत्म करेंगे।”

    मंगलवार को इस्लामाबाद में हुई कैबिनेट की बैठक में कश्मीर पर चर्चा  की गयी थी। बैठक की अध्यक्षता प्रधान मंत्री इमरान खान ने की थी और जिन्होंने जम्मू-कश्मीर की स्थिति पर चर्चा की थी।

    संघीय उड्डयन मंत्री गुलाम सरवर खान ने कहा कि “कैबिनेट की बैठक में पाकिस्तानी हवाई क्षेत्र को बंद करने पर विचार किया गया था हालाँकि अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है। पाकिस्तानी हवाई क्षेत्र को बंद पर अगले 48 घंटों के भीतर निर्णय की उम्मीद है। सभी नियमों पर विचार करने के बाद ही कोई सूरत ए हाल सामने आएगी।”

    जम्मू कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा छीने के कारण भारत और पाक के बीच तनाव काफी बढ़ गया है और इस्लामाबाद इस मामले का अंतर्राष्ट्रीयकरण करने की कोशिश कर रहा है।

    अंतरराष्ट्रीय समुदाय के बयान से पाकिस्तान हक्का बक्का रह गया कि जम्मू कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है। भारत के जम्मू कश्मीर पर निर्णय लेने के दो दिन बाद ही खान ने सऊदी प्रिंस को कॉल किया था।

    कुरैशी ने कहा कि प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली भारतीय सरकार कश्मीर पर वैध दर्जे को हटाने के लिए आधे अधूरे सच को बता रही है। वह कश्मीर में मानवीय अधिकारों के उल्लंघन से ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कश्मीरियों की आवाज़ को उठाने और उन पर हुए अत्याचारों को खत्म करने की मांग की है।

     

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *