Fri. May 24th, 2024
    सऊदी के ऊर्जा मंत्री खालिद अल फलीह

    सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्री खालिद अल फलीह ने कहा कि “भारत और पाकिस्तान के मध्य शान्ति और स्थिरता की दुआ सऊदी अरब का हर नागरिक मांगता है।” उन्होंने कहा कि “मैं सल्तनत का ऊर्जा मंत्री हूँ न कि विदेश मंत्री लेकिन मैं कह सकता हूँ की हर सऊदी का नागरिक हमारे दोस्तों के बीच शान्ति और स्थिरता की कामना करता है।”

    धर्मेंद्र प्रधान की सऊदी के ऊर्जा मंत्री से मुलाकात

    ANI के मुताबिक खालिद अल फलीह ने शनिवार को भारत के पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से मुलाकात की थी। सऊदी के ऊर्जा मंत्री ने भारत की दूसरी यात्रा तीन हफ़्तों से काम के अंतराल में कर ली है। ख़बरों के मुताबिक ऊर्जा मंत्री उद्योगपति मुकेश अम्बानी के बेटे आकाश अम्बानी की शादी में शरीक होने आये थे।

    शनिवार को भारत ने कहा था कि “सऊदी अरब सहित किसी देश ने भी तक मध्यस्थता के लिए आधिकारिक प्रस्ताव नहीं दिया है।” रवीश कुमार ने कहा कि “मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूँ की किसी देश ने अभीतक तक मध्यस्थता के लिए कोई ऑफर नहीं दिया है। मरे ख्याल से हमारी स्थिति एक दम स्पष्ट है।”

    तनाव में सऊदी की मध्यस्थता

    सऊदी अरब में विदेश मामलों के राज्य मंत्री आदेल अल जुबेर 11 मार्च को भारत की यात्रा पर आएंगे। इस यात्रा के दौरान वह विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ बातचीत करेंगे। आदेल अल जुबेर ने 7 मार्च को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री से इस्लामाबाद में बातचीत की थी।

    पुलवामा आतंकी हमला एक आत्मघाती हमलावर द्वारा किया गया था, जिसने विस्फोटक से भरी कार को सीआरपीएफ की बस में टक्कर मार दी थी। काफिले में 70 से अधिक वाहन और 2,500 से अधिक कर्मी थे। हमला तीन साल में सबसे बड़ा हमला है। जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी समूह ने इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली है।

    जवाबी कार्रवाई में 26 फरवरी को भारत सरकार ने दावा किया कि भारतीय वायुसेना के विमानों ने खैबर पख्तूनवा के बालाकोट में आतंकियों की शिविरों पर बमबारी की थी जिसमे करीब 300 आतंकी मारे गए थे। ख़ुफ़िया रिपोर्ट के मुताबिक भारत ने जैश ए मोहम्मद के सबसे विशाल आतंकी कैंप को तबाह किया था।

    विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया कि “इस अभियान में बड़ी संख्या में जेईएम के आतंकी, प्रशिक्षक, वरिष्ठ कमांडर, फियादीन हमले के लिए तैयार किये जा रहे जिहादियों का समूह को नेस्तनाबूत कर दिया गया है। बालाकोट में जेईएम का प्रमुख मौलाना युसूफ अज़हर था। जो जेईएम के सरगना का साला था।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *