Mon. Oct 3rd, 2022
    संसद को सम्बोधित करती राष्ट्रपति

    नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी ने शुक्रवार को कहा कि “भारत और चीन को काठमांडू से जोड़ते हुए रेलवे निर्माण का कार्य शुरू करने की नेपाल योजना बना रहा है जो दो वर्ष में शुरू हो जायेगा। यह रेलवे नेटवर्क बीरगंज-काठमांडू और रसुवगधी-काठमांडू है जो काठमांडू को भारत व चीन दोनों मुल्कों से रेलवे के माध्यम से जोड़ेगा।”

    उन्होंने कहा कि “इसका रेलवे परियोजना का निर्माण कार्य आगामी दो वर्षों में शुरू हो जायेगा। नेपाल और भारत का पहला ट्रांस बॉर्डर रेलवे को आगामी वित्तीय वर्ष में शुरू करने की योजना है। जयनगर-बिजलपुरा और बथनाहा से अगले वित्तीय वर्ष में रेलवे सर्विस का संचालन शुरू हो जायेगा।”

    उन्होंने कहा कि “बिजलपुरा-बर्दिबास सेगमेंट का रेलवे निर्माण कार्य पूरा हो चुका है।” नेपाल की सरकार ने कहा कि “दोनों पड़ोसी मुल्कों को जोड़ने वाले रेलवे लिंकिंग के निर्माण कार्य का अध्ययन पूरा हो चुका है। इसके आलावा राष्ट्रपति ने आगामी वित्तवर्ष में 500000 रोजगार के अवसर सृजित करने का खुलासा भी किया है।

    नेपाल की सरकार गौतम बुद्धा एयरपोर्ट के साल 2019 से और साल 2021 से पोखारा इंटरनेशनल का संचालन के लिए करीबी से कार्य कर रही है। दो वित्तीय वर्षों में आर्थिक दर में वृद्धि के सम्बन्ध के बाबत बताया कि “दोहरे अंको में आर्थिक वृद्धि का दौर जारी रहेगा।”

    राष्ट्रपति ने कहा कि “मेरी सरकार की आर्थिक नीतियों के अमल के परिमाण प्रोत्साहित करने वाले हैं। बीते दो वर्षों में छह प्रतिशत वृद्धि हुई है और इस वर्ष साथ फीसदी की वृद्धि हुई है।”

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.