भारत ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज: विराट कोहली एशिया के पहले ऐसे कप्तान बन गए है जिन्होने ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीती हैं

विराट कोहली

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में खेले जा रहे आखिरी टेस्ट मैच का आखिरी दिन बारिश से धुल गया। इसी के साथ सीरीज का आखिरी टेस्ट मैच ड्रा करार दिया गया। लेकिन टेस्ट सीरीज खत्म होने के साथ ही भारत ने चार टेस्ट मैचो की सीरीज में 2-1 से सीरीज जीती। जिसमें कप्तान विराट कोहली एशिया के पहले ऐसे कप्तान बने है जिन्होने ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीती है।

सिडनी टेस्ट मैच से पहले भारतीय टीम ने 2-1 से बढ़त बना रखी थी और ऑस्ट्रेलिया की सरजमीं पर इतिहास रचने के लिए टीम को या तो यह मैच जीतना था या मैच ड्रॉ खेलना था।

चौथे दिन के खेल का अंत होने तक ऑस्ट्रेलिया दूसरी पारी में बिना किसी विकेट के नुकसान पर 6 रन बना चुकी थी। पहली पारी में भारतीय टीम ने 622 रन बनाए थे जिसके बाद टीम के कप्तान ने पारी घोषित की थी। पहली पारी में 300 में आउट होने के बाद ऑस्ट्रेलिया की टीम फॉलोन खेलने के लिए मैदान पर आयी थी लेकिन बारिश की वजह से मैच पूरा नही हो सका।

पहले बल्लबाजी करते भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया के सामने 622 रनो का एक विशाल स्कोर खड़ा कर दिया था। जिसमें इस पूरी सीरीज में फॉर्म में रहे पुजारा नें 193 और युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने नाबाद 159 रन बनाए। अपनी इन पारियों की बदौलत इन दोनो खिलाड़ियो को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड के ऑनर्स बोर्ड में हस्ताक्षर करने का सम्मान मिला।

चौथे टेस्ट मैच के पहले दिन, मयंक अग्रवाल और केएल राहुल ओपनिंग करने उतरे जिसमे एक निराली बात थी कि यही दोनो बल्लेबाज पहले अपने शहर कर्नाटक के लिए ओपनिंग करते थे और इस टेस्ट मैच में वह भारत के लिए ओपनिंग करते हुए नजर आए। लेकिन इन दोनो की बल्लेबाजी की बात करे तो के एल राहुल ने एक बार फिर नराज किया और वह इस मैच में भी सस्ते में लौट गए।

लेकिन मयंक ने अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखा औऱ पुजारा के साथ दूसरे विकेट के लिए 116 रन की साझेदारी की। इस मैच में भारत के कप्तान विराट कोहली और उपकप्तान अजिंक्य रहाणें रन बनाने में कामयाब नही हो पाए और 23 और 18 के स्कोर पर पवेलियन लौट गए। उसके बाद क्रीज पर आए हनुमा विहारी के साथ पुजारा ने पांचवे विकेट के लिए 100 से ज्यादा रनो की साझेदारी की। जिसके बाद विहारी 42 रन बनाकर आउट हो गए।

उसके बाद खेल के दूसरे दिन, भारतीय टीम के तीन बल्लेबाजो की बहतरीन बल्लेबाजी देखने को मिली जिसमें- पुजारा, पंत और रविंद्र जडेजा का नाम शामिल था। पंत और पुजारा ने जडेजा के आने से पहले 89 रन की साझेदारी की थी। जिसके बाद क्रीज पर आए रविंद्र जडेजा और पंत की साझेदारी से ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज तहस-महस हो गए।

सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में शतक लगाकर पंत ऑस्ट्रेलिया में शतक लगाने वाले पहले भारतीय विकेटकीपर बन गए है। अपने 159 रन के स्कोर से उन्होनें विकेटकीपर बल्लेबाज एमएस धोनी के 148 रन की नाबाद पारी का रिकॉर्ड तोड़ा है जो धोनी ने 2006 में पाकिस्तान के खिलाफ बनाई थी।

भारत की तरफ से पहली इनिंग में सबसे ज्यादा पांच विकेट कुलदीप यादव ने लिए। कुलदीप यादव इस सीरीज का अपना पहला मैच खेल रहे थे। इससे पहले उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच में जगह मिली थी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here