मंगलवार, नवम्बर 19, 2019

भारत में अल्पसंख्यकों की दशा के बयान पर पाक पीएम इमरान खान को फटकार

Must Read

राज्यसभा के सभापति एम.वेंकैया नायडू की सांसदों से अपील संसदीय प्रवर समिति की बैठक में शामिल हो

पिछले हफ्ते वायु प्रदूषण पर महत्वपूर्ण बैठक में विभिन्न सांसदों के गैरहाजिर होने की वजह से बैठक स्थगित होने...

आस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन से दिए क्रिकेट को अलविदा कहने के संकेत

आस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन ने सोमवार को कहा है पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली जाने...

इलेक्टोरल बांड को लेकर प्रियंका गांधी का भाजपा सरकार पर हमला, कहा आरबीआई को दरकिनार कर मंजूरी दी गई

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सोमवार को इलेक्टोरल बांड का मुद्दा उठाते हुए आरोप लगाया कि इन्हें भारतीय रिजर्व...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के बयान पर भारतीय विभाग ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। भारत ने शनिवार को कहा कि पाक पीएम की टिप्पणी ने सभी भारतीयों का अपमान किया है। इमरान खान ने एक बार फिर भारत के लिए गलत भावना व्यक्त की थी। भारतीय विदेश मंत्रालय के कहा कि यहां कई दिग्गज विभिन्न धर्म के नेता है, जो कई उच्च और संवैधानिक पद पर नियुक्त थे।

उन्होंने कहा कि इसके उलट, पाक मे उच्च पदों पर इस्लामिक धर्म  मानने वाले  आलावा किसी और को नियुक्त नहीं करते हैं। पाकिस्तान के ‘नया पाकिस्तान’ में भी अल्पसंख्यकों का जिक्र नहीं था। पाक के पीएम इमरान खान की आर्थिक सलाहकार परिषद् में भी कोई अल्पसंख्यक मौजूद नहीं है।

भारत सरकार ने कहा कि यदि पाकिस्तान घरेलू चुनौतियों और हालातों को सुधारने में अपना ध्यान देगा तो वह बेहतर करेगा, ध्यान भटकाने की फिजूल कोशिश न करे। भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि “पाकिस्तान के प्रधानमंत्री भारतीय जनता की भावनाओं के साथ खेलने का प्रयास कर रहे हैं और भारतीय जनता इसे नकार देगी।”

भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि हम सुनिश्चित करेंगे कि पाकिस्तान में भी अल्पसंख्यकों को बराबरी का अधिकार मिले।न कि इस आधार पर कि भारत में मुस्लिमों के साथ किस तरह का व्यवहार किया जा रहा है।

इमरान खान ने अपनी सरकार के 100 दिनों के कामकाज का विवरण देने के लिए लाहौर में स्थित एक समारोह में शरीक हुए थे। इमरान खान ने कहा कि मोहम्मद अली जिन्ना हिन्दू-मुस्लिम एकजुटता के कट्टर समर्थक थे और साथ रहने में विश्वास करते थे। उन्होंने कहा कि जिन्ना किसी कारण कांग्रेस से अलग गए थे और उन्हें महसूस हो रहा था कि कांग्रेस आज़ादी की मांग तो कर रही है लेकिन मुस्लमानो को समानता का हक देने को तत्पर नहीं है।

उन्होंने बताया कि उनकी सरकार पाकिस्तान में धार्मिक अल्पसंख्यकों को सामान दर्जा दिलवाने के लिए कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि यह मोहम्मद अली जिन्ना का नजरिया था। इमरान खान ने कहा कि उनकी सरकार सुनिश्चित करेगी कि धार्मिक अल्पसंख्यक लोग पाकिस्तान में सुरक्षित और संरक्षित रहे और नए पाकिस्तान में सभी को बराबरी का दर्जा मिले।

उन्होंने नसीरुद्दीन शाह के बयान पर कहा कि हम मोदी सरकार को अल्पसंख्यको के साथ बराबरी का सुलूक करना सिखायेंगे, क्योंकि भारत के नागरिक कह रहे हैं कि उनके यहाँ अल्पसंख्यकों के साथ समान व्यवहार नहीं किया जा रहा है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

राज्यसभा के सभापति एम.वेंकैया नायडू की सांसदों से अपील संसदीय प्रवर समिति की बैठक में शामिल हो

पिछले हफ्ते वायु प्रदूषण पर महत्वपूर्ण बैठक में विभिन्न सांसदों के गैरहाजिर होने की वजह से बैठक स्थगित होने...

आस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन से दिए क्रिकेट को अलविदा कहने के संकेत

आस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन ने सोमवार को कहा है पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली जाने वाली टेस्ट सीरीज के बाद...

इलेक्टोरल बांड को लेकर प्रियंका गांधी का भाजपा सरकार पर हमला, कहा आरबीआई को दरकिनार कर मंजूरी दी गई

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सोमवार को इलेक्टोरल बांड का मुद्दा उठाते हुए आरोप लगाया कि इन्हें भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) को दरकिनार करते...

मोइन अली ने कहा, आईपीएल जीतने के लिए आरसीबी नहीं रह सकती विराट कोहली और डिविलियर्स के भरोसे

इंग्लैंड के हरफनमौला खिलाड़ी मोइन अली उन दो विदेशी खिलाड़ियों में से हैं जिन्हें रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आगामी...

श्रीलंका राष्ट्रपति चुनाव: गोटाबाया राजपक्षे की जीत पर पाकिस्तान के राजनैतिक गलियारों में खुशी, भारत के लिए झटका

श्रीलंका के राष्ट्रपति पद के चुनाव में गोटाबाया राजपक्षे की जीत पर पाकिस्तान के राजनैतिक गलियारों में खुशी जताई जा रही है। मीडिया में...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -