Sun. Jul 21st, 2024
    नीलेश शाह

    भारत द्वारा ‘व्यापार सुगमता’ (ईज़ ऑफ डूइंग बिज़नेस) रैंकिंग में उछाल के बाद फ़ंड मैनेजर नीलेश शाह ने बयान देते हुए कहा है कि “भारत में आईटी रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया अमेरिका से भी आसान है।”

    सीएनबीसी को दिये गए एक इंटरव्यू में नीलेश ने कहा है कि “हम देश में तमाम तरह की बाधाओं की बात करते हैं, लेकिन एक बार अमेरिका में जाकर इनकम टैक्स रिटर्न दाख़िल करने पर आपको पता चलेगा कि भारत में इनकम टैक्स रिटर्न प्रक्रिया कितनी सरल है।”

    नीलेश शाह के अनुसार देश में मध्यस्थहीनता, डिजिटलीकरण व नए सरल नियमों के चलते व्यापार सुगमता का माहौल बड़ी तेज़ी से उभर कर सामने आ रहा है।

    गौरतलब है कि लंबे समय तक व्यापार सुगमता के मामले में पिछड़े रहने के बाद अब देश ने महज 2 ही सालों में 53 स्थानों की लंबी छलांग लगाई है।

    मालूम हो कि पिछले साल की विश्व बैंक द्वारा घोषित व्यापार सुगमता (ईज़ ऑफ डूइंग बिज़नेस) रैंकिंग में 30 स्थानों व इस बार की रैंकिंग में 23 स्थानों की छलांग लगाते हुए देश ने 77वें स्थान पर अपना कब्जा जमाया है।

    हालाँकि देश के वित्तमंत्री अरुण जेटली का मानना है कि अभी भी कई ऐसे क्षेत्र हैं, जिनमे सुधार करने की जरूरत है, इसके बाद ही हम अगले वर्ष तक इस रैंकिंग में टॉप 50 देशों में अपनी जगह बना पाएंगे।

    जेटली ने अनुसार यदि देश रियल इस्टेट के पंजीकरण, नए व्यवसायों की शुरुआत व अनुबंधों के प्रवर्तन जैसे क्षेत्र में अपने मापदण्डों को और बेहतर कर लेता है, तो संभव है कि अगले वर्ष की रैंकिंग में देश टॉप 50 देशों में अपनी जगह पक्की कर ले।

    यह भी पढ़ें: ईज ऑफ़ डूइंग बिज़नस: अगले 3 सालों में टॉप 25 में पहुंचेगा भारत: नीति आयोग

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *