Mon. Jul 22nd, 2024
    भारत की रेटिंग में सुधार

    हाल ही में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के उपलक्ष्य कई योजनाएं रखी।

    एक तरीके से देखा जाये तो प्रधान मंत्री के तौर पर नरेंद्र मोदी का लाल किले से यह आखरी भाषण था। इससे पुरे देश को काफी उम्मीदें भी थी।

    अपने भाषण के दौरान प्रधान मंत्री मोदी ने अपनी सरकार की कामयाबी एवं भारत के विकास पर प्रकाश डाला।

    अपने संबोधन में प्रधान मंत्री ने ऐलान किया कि 2022 तक गगनयान लेकर कोई हिंदुस्तानी अंतरिक्ष में जाएगा।

    पीएम की इस घोषणा पर भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने अपनी प्रतिबद्धता जताई है।

    पीएम मोदी ने 72वें स्वतंत्रता दिवस पर लालकिले की प्राचीर से कहा, ‘मंगलयान से लेकर अबतक भारत के वैज्ञानिकों ने अपनी ताकत का परिचय करवाया है, अब हम मानव सहित गगनयान लेकर जाएंगे और यह गगनयान जब अंतरिक्ष में जाएगा, हिंदुस्तानी इसे लेकर जाएगा तब विश्व के अंदर ऐसा करनेवाले हम चौथे देश होंगे। मैं आज देशवासियों को एक खुशख़बरी दे रहा हूं। 2022 में जब देश की आजादी के 75 वर्ष पूरे होंगे या हो सके तो उससे पहले मां भारती की कोई संतान, चाहे बेटा हो या बेटी, अंतरिक्ष में जाएगी। उसके हाथ में तिरंगा होगा। इसके साथ ही भारत मानव को अंतरिक्ष में पहुंचाने वाला विश्व का चौथा देश बन जाएगा।’

    इसके बाद इसरो के चेयरमैन के शिवन ने कहा, ‘पीएम ने 2022 का लक्ष्य दिया है और यह हमारी जिम्मेदारी है कि इसे पूरा किया जाए। हम पहले से ही इस मिशन पर काम कर रहे हैं। कई टेक्नॉलजी जैसे कि क्रू मॉड्यूल और एस्केप सिस्टम पर काम पूरा हो चुका है। प्रॉजेक्ट पर वैज्ञानिक जुटे हुए हैं। अब हमें लक्ष्य हासिल करने की दिशा में प्राथमिकता के साथ काम करने की जरूरत है।’ अब देखना यह दिलचस्प होगा की क्या वाकई मोदी 2022 के इस सपने को पूरा कर पाएंगे या यह महज़ जुमला बन कर रह जायेगा।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *