Tue. Jul 23rd, 2024
    राजनाथ सिंह

    भारत के केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि “भारतीय वायुसेना के हवाई हमले ने पडोसी देश की धड़कने बड़ा दी है। नतीजतन उनके विमान भारत में प्रवेश करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन भारत उन्हें खदेड़ रहा है।” साउथ दिल्ली म्युनिसिपल कारपोरेशन द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में वह भाषण दे रहे थे।

    राजनाथ सिंह ने कहा कि “आतंकवादियों ने 40 सीआरपीएफ जवानों को हत्या कर दी है। जिस तरह से भारतीय वायुसेना पाकिस्तान में घुसी और आतंकी शिविरों को नष्ट कर दिया, यह कोई कमजोर राष्ट्र नहीं कर सकता है बल्कि एक ताकतवर देश करता है।”

    हवाई हमले की सफलता पर सवाल उठाने वालों की उन्होंने आलोचना की और कहा कि “राष्ट्रीय गौरव से जुड़े मसलों पर सवाल नहीं उठाये जाते हैं। कई लोग पूछ रहे हैं कि कब वायुसेना के जवान वहां गए और कितने लोग मारे गए हैं। मैं उनसे कहना चाहता हूँ कि बम गिरने के बाद उन्हें वहां जाना चाहिए था और मृतकों की संख्या गिननी चाहिए थी।”

    गृह मंत्री ने कहा कि “वायुसेना के विमानों ने वहां बेम बरसाए थे न कि फूल, और इस हवाई के घबराने के कारण अब वह भारतीय सीमा में दाखिल होने की कोशिश कर रहे हैं। इस हवाई हमले से पाकिस्तान घबरा गया है। अगर कुछ नहीं हुआ है तो पाकिस्तान परेशान क्यों हैं। उनके विमानों ने भारतीय सीमा में दाखिल होने की कोशिश की और हम उन्हें खदेड़ रहे हैं।”

    उन्होंने कहा कि “जब बात राष्ट्रीय गौरव पर सवाल की हो तो समस्त देश एकजुट खड़ा है। भारत से तेज़ बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बन रही है। विश्व में भारत को ताकतवर देश के तौर पर जाना जाता है।

    भारत के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने मंगलवार को कहा कि “भारत अपने सभी पडोसी मुल्कों के साथ मधुर सम्बन्ध चाहता है लेकिन पाकिस्तान ने आतंकवाद को अपने देश की नीति बना लिया है।” नायडू ने कहा कि “हम सभी देशों के साथ बेहतर सम्बन्ध चाहते हैं। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था कि आप दोस्त बदल सकते हैं लेकिन पड़ोसी नहीं बदल सकते हैं। यह बात दिमाग में रख लीजिये कि हम अपना सर्वश्रेष्ठ दे रहे हैं।”

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *