दा इंडियन वायर » समाचार » कैसे भारतीय रेलवे ने अपने जयपुर स्टेशन को दिया ‘एयरपोर्ट जैसा’ फील; देखें बदलाव के सुंदर चित्र
समाचार

कैसे भारतीय रेलवे ने अपने जयपुर स्टेशन को दिया ‘एयरपोर्ट जैसा’ फील; देखें बदलाव के सुंदर चित्र

जयपुर जंक्शन

पीयूष गोयल के नेतृत्व वाला रेल मंत्रालय कई रेलवे स्टेशनों को अपग्रेड कर रहा है और उन्हें नया रूप दे रहा है। हाल ही में भारतीय रेलवे ने अपने जयपुर जंक्शन रेलवे स्टेशन में खासे बदलाव करके उसे एयरपोर्ट के सामान तब्दील कर दिया।

जयपुर रेलवे स्टेशन मे किये ये बदलाव:

रेलवे विभाग ने जयपुर रेलवे स्टेशन में सबसे पहले पूरे स्टेशन में एलईडी लाइट्स लगा दी हैं। इससे पूरे स्टेशन पर प्रकाश के स्तर में सुधार आया है। इसके साथ ही इसे एयरपोर्ट के समान दिखने लायक बना दिया है। अब जयपुर रेलवे भवन ना केवल बेहतर प्रकाश व्यवस्था प्रदान करता है बल्कि सुन्दर भी दिखता है।

जयपुर जंक्शन रेलवे स्टेशन

रेलवे बोर्ड के निर्देशों के अनुसार उत्तर पश्चिम रेलवे के जयपुर जंक्शन रेलवे स्टेशन को आधुनिक और उच्च गुणवत्ता वाली एलईडी लाइटों से सुसज्जित कर दिया गया है। इसके अलावा, रेलवे स्टेशन पर एलईडी लाइटें लगाते समय, राष्ट्रीय ट्रांसपोर्टर ने बिजली बचाने के उपाय भी किए। इसलिए, ऊर्जा-कुशल एलईडी लाइट्स का उपयोग रेलवे स्टेशन के प्रकाश स्तर को बढ़ाने के लिए किया गया है। 

भारतीय रेलवे स्टेशनों पर एलईडी बल्ब लगा रही है क्योंकि वे अन्य बल्बों की तुलना में अधिक ऊर्जा-कुशल हैं और रेलवे मंत्रालय को पैसे बचाने में भी मदद करते हैं।

35 अन्य स्टेशन पर भी होंगे सुधार :

रेलवे विभाग की इस पहल के अंतर्गत जयपुर जंक्शन सहित भारतीय रेलवे के नेटवर्क पर कुल 35 स्टेशनों में 28 फरवरी 2019 तक सुधार किया गया था। हालांकि, जयपुर रेलवे डिवीजन ने निर्धारित समय सीमा से काफी पहले यह लक्ष्य हासिल कर लिया।

35 रेलवे स्टेशनों में से, जयपुर जंक्शन और अजमेर रेलवे स्टेशनों को उत्तर पश्चिम रेलवे क्षेत्र से चुना गया था। इस पहल के लिए रेलवे बोर्ड द्वारा कंसर्ट हॉल, स्टेशन प्लेटफॉर्म, सर्कुलेटिंग एरिया, वेटिंग रूम, रिजर्वेशन काउंटर, इंक्वायरी काउंटर, फुट ओवर ब्रिज (एफओबी), सीढ़ियाँ, पार्किंग एरिया, एस्केलेटर की प्रकाश व्यवस्था की स्थिति में सुधार के लिए एक योजना भी बनाई गई थी।

About the author

विकास सिंह

विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]