Sat. Feb 24th, 2024
    भारतीय मूल की लेखिका नंदिनी दास ने जीता 2023 ब्रिटिश एकेडमी बुक प्राइज

    भारतीय मूल की लेखिका नंदिनी दास को उनकी पुस्तक ‘Courting India: England, Mughal India and the Origins of Empire’ के लिए 2023 ब्रिटिश एकेडमी बुक प्राइज से सम्मानित किया गया है। उन्हें ब्रिटिश एकेडमी बुक प्राइज 2023 जीतने पर 25,000 GBP पाउंड की राशि मिलेगी। यह पुरस्कार वैश्विक सांस्कृतिक समझ को बढ़ाने वाली गैर-फिक्शन पुस्तकों को दिया जाता है।

    दास की पुस्तक भारत और ब्रिटेन के बीच संबंधों की शुरुआत की एक नई व्याख्या पेश करती है। वह दिखाती हैं कि कैसे ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने मुगल दरबार में अपनी पहुंच बढ़ाने के लिए कूटनीति और व्यापार का इस्तेमाल किया। उनकी पुस्तक यह भी बताती है कि कैसे भारत और ब्रिटेन के बीच संबंधों ने दोनों देशों के इतिहास और संस्कृति को आकार दिया।

    दास ने इस पुरस्कार को जीतने पर कहा कि मैं इस सम्मान से बहुत खुश हूं। मुझे उम्मीद है कि यह पुरस्कार मेरी पुस्तक को अधिक पाठकों तक पहुंचाने में मदद करेगा। मैं चाहती हूं कि लोग भारत और ब्रिटेन के बीच संबंधों की जटिल और आकर्षक कहानी को जानें।

    ब्रिटिश एकेडमी बुक प्राइज के निर्णायक मंडल ने दास की पुस्तक की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह एक अच्छी तरह से लिखी गई और शोधपूर्ण पुस्तक है जो भारत और ब्रिटेन के बीच संबंधों की शुरुआत पर एक नया दृष्टिकोण प्रस्तुत करती है। उन्होंने कहा कि दास की पुस्तक समय पर आई है, क्योंकि यह हमें दो देशों के बीच संबंधों को समझने में मदद करती है जो आज भी दुनिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

    नंदिनी दास ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में अंग्रेजी विभाग में प्रोफेसर हैं। वह भारत और ब्रिटेन के बीच संबंधों पर कई पुस्तकों और लेखों की लेखिका हैं। उनकी पुस्तक ‘Courting India’ को व्यापक रूप से प्रशंसित किया गया है, और इसे भारतीय इतिहास और संस्कृति में एक महत्वपूर्ण योगदान माना जाता है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *