Tue. Jun 18th, 2024
    हार्दिक पांड्या, विराट कोहली

    इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल के सीईओ डेविड रिचर्डसन ने गुरुवार को भारतीय कप्तान विराट कोहली को खेल के लिए एक महान राजदूत के रूप में वर्णित किया और हार्दिक पांड्या की सेक्सिस्ट टिप्पणियों के बावजूद भारतीय टीम को एक “अच्छे व्यवहार” वाली टीम बताया।

    रिचर्डनसन जो यहां विश्वकप से संबंधित एक प्रचार समारोह के लिए पहुंचे थे, उनसे पांड्या की महिलाओ के ऊपर की गई विवादस्पद टिप्पणियो के बारे में पूछा गया, जो इस वजह से कुछ मैचो के लिए टीम से बाहर रहे थे।

    रिचर्डसन ने कहा, ” यह सदस्य देश के लिए चिंता का विषय है और वैसे बात करे तो भारतीय टीम एक अच्छा व्यवहार करने वाली टीम है। वह मैच खेलते है और अंपायर के फैसलो को स्वीकार करते है। वह एक अच्छे जूनून से खेल को खलते है।”
    उन्होने आगे कहा, वह अच्छा खेल रहे है और विराट कोहली खेल के महान राजदूत है। वह टी-20 क्रिकेट के बारे में नही बल्कि वनडे और टेस्ट क्रिकेट के बारे में बात करते है और मुझे लगता है अच्छे खिलाड़ियो को खेल के तीनो प्रारूप खेलना चाहिए।”
    भारत की ओर से पांड्या के मुद्दे को संभालने के बारे में उनसे एक सवाल भी किया गया था और उन्होने जबाव देते हुए कहा, “हां, हम आशा करते हैं कि भारत इसे जल्द ही सुलझा लेगा, लेकिन एक वैश्विक संभावना से, यह बहुत बड़ा मुद्दा नहीं है।”
    वास्तविक क्रिकेट मामलों पर, रिचर्डसन ने भारत के हालिया प्रदर्शन और फिटनेस पर कोहली के ध्यान की सराहना की। दक्षिण अफ्रीकी ने महसूस किया कि भारत अब उस खेल पर हावी हो रहा है जिस तरह से ऑस्ट्रेलिया एक समय पर हावी था।
    उन्होने कहा, ” मुझे लगता है यह एक प्राकृतिक सधार है, भारत के पास हमेशा से क्षमता थी, करोड़ो लोग इस खेल को खेलते है और इस खेल से प्यार करते है और यह सोचा जाना चाहिए कि इस देश ने इसे के शानादर तरीके से साबित किया है।”

    By अंकुर पटवाल

    अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *