Wed. Nov 30th, 2022
    रवीना टंडन

    भाजपा के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे को चंडीगढ़ में देर रात नशे में धुत होकर एक आईएएस ऑफिसर की बेटी का पीछा करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। घटना के वक़्त उसका एक दोस्त भी साथ था। दोनों को अगले दिन सुबह जमानत पर रिहा कर दिया गया था। इस घटना की पूरे देश में निंदा हो रही है। कांग्रेस ने हरियाणा भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला से इस्तीफे की मांग की है। कांग्रेस का कहना है कि नैतिकता के आधार पर बराला को स्वयं इस्तीफ़ा दे देना चाहिए। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि सुभाष बराला इस्तीफ़ा नहीं देंगे। बेटे के किये अपराध की सजा बराला को देना उचित नहीं है। इस घटना पर हरियाणा भाजपा उपाध्यक्ष रामवीर भट्टी ने विवादास्पद बयान दिया है। अपने बयान में भट्टी ने कहा है कि उस लड़की को इतनी रात में बाहर घूमने की क्या जरुरत थी। लड़कियों को अकेले 12 बजे के बाद नहीं घूमना चाहिए। बाहर का माहौल सही नहीं है और हमें अपनी रक्षा खुद करनी पड़ती है ऐसे में इतनी रात को उसे ड्राइविंग नहीं करनी चाहिए थी।

    अंग्रेजी न्यूज़ चैनल सीएनएन को दिए इस बयान को चैनल की वरिष्ठ पत्रकार और एंकर पल्लवी घोष ने अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है। रामवीर भट्टी के इस बयान की चौतरफा निंदा हो रही है। लोगों ने कहा है कि इस तरह की मानसिकता वाले लोगों की वजह से ही ऐसी वारदातें कम नहीं हो रही है और अपराधियों का मनोबल बढ़ रहा है। भाजपा नेता भट्टी पर अपना गुस्सा निकालते हुए बॉलीवुड अभिनेत्री रवीना टंडन ने कहा है कि यह कायर लोग हैं। इनका बस चले तो सूरज ढलने के बाद अपनी बेटियों को ताले में बंद कर दें। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा है कि भट्टी का यह बयान अपमानजनक है। वह इस बयान के लिए भट्टी पर अदालत में मुकदमा करेंगे।

    बता दें कि चंडीगढ़ में एक आईएएस की बेटी ने भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला के पुत्र विकास बराला और उसके साथी आशीष कुमार पर छेड़छाड़ का आरोप लगाया था। लड़की ने आरोप लगाया कि विकास और उसका दोस्त आशीष एक पेट्रोल पंप से उसका पीछा कर रहे थे और कार का दरवाजा खोलने की कोशिश की। कई बार फ़ोन करने के बाद पुलिस मौके पर पहुँची और दोनों को गिरफ्तार किया। अपना दर्द फेसबुक पर बयान करते हुए पीड़िता ने कहा था कि मैं खुशकिस्मत हूँ कि रेप के बाद नाले में पड़ी नहीं मिली।

    By हिमांशु पांडेय

    हिमांशु पाण्डेय दा इंडियन वायर के हिंदी संस्करण पर राजनीति संपादक की भूमिका में कार्यरत है। भारत की राजनीति के केंद्र बिंदु माने जाने वाले उत्तर प्रदेश से ताल्लुक रखने वाले हिमांशु भारत की राजनीतिक उठापटक से पूर्णतया वाकिफ है।मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक करने के बाद, राजनीति और लेखन में उनके रुझान ने उन्हें पत्रकारिता की तरफ आकर्षित किया। हिमांशु दा इंडियन वायर के माध्यम से ताजातरीन राजनीतिक और सामाजिक मुद्दों पर अपने विचारों को आम जन तक पहुंचाते हैं।