Wed. May 22nd, 2024
    बंगाल में भाजपा

    भाजपा पूरे भारत में अपना जनाधार बढ़ाने की कोशिश में है। अपनी इस कोशिश में वह कई राज्यों में गठबंधन कर रही है और सत्ता में भी आ चुकी है। इस सफर में उसका अगला पड़ाव पश्चिम बंगाल नजर आ रहा है। कम्युनिस्टों के गढ़ रहे बंगाल में ममता बनर्जी की सरकार आने के बाद से सारे समीकरण ही बदल गये हैं। कम्युनिस्ट लगातार अपना जनाधार खो रहे हैं और कांग्रेस तो पूरे देश में हाशिये पर है। ऐसे हालात में भाजपा एक मजबूत प्रतिद्वंदी बनता नजर आ रहा है।

    2019 के विधानसभा चुनावों के मद्देनजर पार्टी ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। पार्टी के कार्यकर्ता राज्य में भाजपा को मजबूत करने में जी-जान से लगे हुए हैं। अपनी इस कोशिश में वो अनोखे तरीकों का सहारा ले रहे हैं। हालिया ख़बरों के मुताबिक़ भाजपा प्रदेश में लोगों को रिझाने के लिए मछली, संगीत और खेलों का सहारा लेगी।

    इस दिशा में पार्टी पहले ही कदम बढ़ा चुकी है और कई कबड्डी, क्रिकेट और फुटबॉल टूर्नामेंट आयोजित कर चुकी है। बंगाल की फुटबॉल से दीवानगी जगजाहिर है। ऐसे में पार्टी का यह कदम युवाओं को अपनी ओर रिझा सकता है।

    भाजपा और संघ के कुछ वरिष्ठ कार्यकर्ता राज्य में मछली महोत्सव के आयोजन की तैयारियाँ कर रहे हैं। मछली बंगालियों का पसंदीदा भोजन होता है और वे इसे बड़े चाव से कहते है। पश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि पार्टी लोगों से जुड़ने की हर संभव कोशिश कर रही है। यहाँ के लोगों को संगीत का भी शौक है और पार्टी संगीत आयोजनों को भी प्राथमिकता देगी।

    गोरखालैंड मामले पर वर्तमान तृणमूल सरकार घिरी हुई है और त्रिपुरा में पार्टी के 6 विधायकों ने भाजपा में शामिल होने की धमकी दी है। ऐसे में भाजपा का यह जनसम्पर्क पार्टी के हित में है। पर क्या यह कदम पार्टी को सत्ता तक पहुँचायेगा, यह तो आने वाला वक़्त ही बताएगा।

    By हिमांशु पांडेय

    हिमांशु पाण्डेय दा इंडियन वायर के हिंदी संस्करण पर राजनीति संपादक की भूमिका में कार्यरत है। भारत की राजनीति के केंद्र बिंदु माने जाने वाले उत्तर प्रदेश से ताल्लुक रखने वाले हिमांशु भारत की राजनीतिक उठापटक से पूर्णतया वाकिफ है।मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक करने के बाद, राजनीति और लेखन में उनके रुझान ने उन्हें पत्रकारिता की तरफ आकर्षित किया। हिमांशु दा इंडियन वायर के माध्यम से ताजातरीन राजनीतिक और सामाजिक मुद्दों पर अपने विचारों को आम जन तक पहुंचाते हैं।