दा इंडियन वायर » स्वास्थ्य » महिलाओं के ब्रेस्ट में सूजन का कारण, लक्षण, इलाज
स्वास्थ्य

महिलाओं के ब्रेस्ट में सूजन का कारण, लक्षण, इलाज

स्तन में सूजन गांठ breast swelling and pain in hindi

कहते हैं कि एक स्त्री ही घर को घर बनती है। इस भागदौड़ भरी जिंदगी में स्त्री अपने पूरे घर का भार उठा लेती है। उनकी ख्वाहिशों और उनके स्वास्थ्य का ध्यान तो रख लेती है, लेकिन शायद खुद पर ध्यान देना भूल जाती है या यूं कहें कि कोताही बरत लेती है।

मामूली चोट या जरा-सी दर्द को वो इतनी गंभीरता से नहीं लेती, जितना उसे लेना चाहिए। कभी-कभी हमारी यही छोटी चूक, बड़ी परेशानी बन जाती है। इन्हीं में से एक है स्तनों में सूजन।

जी हां, ब्रेस्ट में सूजन या गाँठ, जिसे फाइब्राडिनोसिस भी कहा जाता है। ये ऐसी बिमारी है जिसे अक्सर महिलाएं गंभीरता से नहीं लेती हैं।

क्यों होता है ब्रेस्ट में सूजन (breast swelling in hindi)

आइए आपको विस्तार से बताते हैं कि ब्रेस्ट में सूजन (फाइब्राडिनोसिस) क्यों होता है, इसके लक्षण क्या हैं और इसका उपचार कैसे किया जा सकता है-

महिलाओं के स्तनों में सूजन कई कारण से हो सकते हैं। कभी ये हार्मोनल बदलाव की वजह से होते हैं तो कभी एसिडिटी और पीरियड्स के दौरान स्तनो में सूजन, दर्द और गांठ की शिकायत होती है।

ब्रेस्ट में सूजन के कारण (reasons of breast swelling in hindi)

1. पीरियड्स के वक्त शरीर में हार्मोन्स बढ़ने लगते हैं, जिसकी वजह से ब्रेस्ट में सूजन आ जाती है।
2. ब्रेस्ट में सूजन ज्यादातर बढ़ती उम्र की महिलाओं में देखा जाता है। ये 40 से 45 साल की महिलाओं में ज्यादा होता है।
3. अक्सर प्रेग्नेंसी के शुरुआती दौर में महिलाओं को ब्रेस्ट में भारीपन महसूस होता है। इस दौरान भी ब्रेस्ट में सूजन आ सकती है।
4. सिर्फ शुरुआत ही नहीं बल्कि डिलीवरी के बाद भी महिलाओं के ब्रेस्ट में सूजन होना आम बात है।
5. ब्रेस्ट में गांठ पड़ जाने की वजह से भी सूजन की समस्या होती है।
6. ब्रेस्ट कैंसर की वजह से भी सूजन महसूस होने लगता है।

इन कारणों को अलावा हमारे खान-पान और रहन- सहन से भी जुड़ी कुछ चीजें हैं जो स्तन में सूजन का वजह बन सकती है।

1. अगर हम अपने खाने में नमक और कैफीन की मात्रा ज्यादा लेते हैं तो उसकी वजह से भी स्तनों में सूजन हो सकता है।
2. शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन के उत्पादन से भी ब्रेस्ट में सूजन की बिमारी हो सकती है। ऐसे में कई ऐसे गर्भनिरोधक गोलियां हैं जिसमें एस्ट्रोजन मौजूद होता है।
3. देखा गया है कि स्तनपान के दौरान दुग्ध नलिकाओं में संक्रमण हो जाता है। जिसकी वजह से स्तन में सूजन की दिक्कत होती है।

यही वो कारण हैं जिनके वजह से महिलाओं को स्तन में सूजन महसूस होते हैं। आइए जानते हैं उन लक्षणों के बारे में जो ब्रेस्ट में सूजन होने पर होते हैं-

ब्रेस्ट में सूजन के लक्षण (symptoms of breast swelling in hindi)

  • हमेशा दर्द होना- ब्रेस्ट में सूजन होने की वजह से हमेशा दर्द का एहसास होता है। उस हिस्से के आसपास छुने पर भी दर्द महसूस होता है।
  • आकार का बढ़ जाना- ब्रेस्ट में सूजन की वजह से उसके आकार में बदलाव हो जाता है।
  • जलन होना- ब्रेस्ट में सूजन होने पर हमेशा ब्रेस्ट में हल्की-हल्की सी जलन महसूस होती है।
  • गर्माहट महसूस होना- सूजन होने पर हमेशा गर्माहट का एहसास होता है।

ब्रेस्ट में सूजन के इलाज (treatment of breast swelling in hindi)

स्तन में सूजन का पता लगने पर सबसे पहले डॉक्टर के पास जाना चाहिए। क्योंकि डॉक्टर की देखरेख में ही ये पता चल पाता है कि आपकी ये दिक्कत कितनी छोटी है और कितनी बड़ी। कई बार लोग इसे मामूली सी प्रॉब्लम बताकर नजरअंदाज कर लेते हैं, लेकिन बाद में ये कैंसर जैसी भयावह बिमारी का भी रुप ले लेती है। इसलिए डॉक्टर की परामर्श जरुर लें। डॉक्टर आपकी जांच करते हुए आपको दवा से भी
ठीक कर सकती है या फिर आपको ब्रेस्ट अलट्रासाउंड कराने की भी सलाह मिल सकती है। लेकिन अगर आप सूजन की वजह से ज्यादा परेशान हों तो कुछ घरेलू उपाए किए जा सकते हैं, जैसे
1. कपड़े ढीले पहनना
2. ज्यादा जलन महसूस होने पर बर्फ के टूकड़े से हर 10 मिनट पर सेंकना
3. सूजन ठीक करने के लिए अजवाइन का तेल इस्तेमाल किया जा सकता है। उसे हल्का गर्म करने के बाद स्तनों पर मालिश करने से राहत महसूस होती है।
4. एलोवेरा जैल को हल्दी के साथ मिलाकर गर्म कर लें। फिर इस लेप को स्तनों पर लगाएं, इससे राहत मिलेगी।

स्तनों में सूजन के साथ- साथ महिलाओं में ब्रेस्ट पेन की समस्या भी देखी गई है। अक्सर महिलाओं को ब्रेस्ट में दर्द की शिकायत रहती है। स्‍तनों में दर्द को मास्‍टालजिया, ममालजिया और मास्‍टोडा‍यनिया भी कहा जाता है। स्तनों में दर्द और सूजन के लक्षण ज्यादातर समान ही होते हैं।

अमेरिका के पैसेफिक मेडिकल सेंटर के एक अनुमान के मुताबिक अमेरिका में 50 से 70 फीसदी महिलाओं को ब्रेस्ट पेन की का सामना करना पड़ता है। यूके के स्‍वास्‍थ्‍य विभाग का कहना है कि तीस से पचास साल की उम्र के बीच करीब 66 फीसदी महिलाओं को कभी न कभी स्‍तनों में दर्द की शिकायत होती है।

About the author

पंकज सिंह चौहान

पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

2 Comments

Click here to post a comment

    • ब्रैस्ट में यदि आपको सुजन है, तो आप इसे बर्फ से सेंक सकती हैं या फिर आप इसपर तेल की मालिश कर सकती हैं.

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!