Sun. Jun 23rd, 2024
    ब्रितानी वित्त मंत्री

    ब्रिटेन के वित्तीय मंत्री साजिद जाविद ने सोमवार को कहा कि “31 अक्टूबर को ब्रिटेन यूरोपीय संघ से बाहर निकल जायेगा और उम्मीद है कि समझौता मुकम्मल हो जायेगा।” जाविद ने कहा कि “अगर हम डील को मुकम्मल नहीं कर पाए, मेरे ख्याल से इसे किसी भी स्थिति में छोड़ना महत्वपूर्ण होगा या नो डील के सतह ब्रिटेन को ईयू का साथ छोड़ना होगा। यह उचित नहीं है लेकिन 31 को हम पर्याप्त तरीके से छोड़ देंगे।”

    31 अक्टूबर को होगा ब्रेक्सिट

    मंत्री ने इसका स्पष्टीकरण करने से इनकार कर दिया कि कैसे सरकार किसी समझौते के न होने पर ब्रेक्सिट ओ अंजाम देगी। उन्होंने कहा कि “जिस प्रस्ताव को संसद ने पारित किया था, इसने चीजो को मजीद मुश्किल बना दिया है लेकिन हम अपनी नीति पर स्पष्ट है और इसके कोई बदलाव नहीं होगा। हम 31 अक्टूबर को ईयू से ब्रिटेन का नाता खत्म कर देंगे।”

    शनिवार को बोरिस जॉनसन ने ब्रेक्सिट की जरुरत पर जोर दिया था ताकि देश आगे की तरफ बढ़ सके और प्राथमिकताओं पर ध्यान केन्द्रित कर सके। जुलाई में पीएम पद पर बैठने के बाद बोरिस जॉनसन ने 31 अक्टूबर को ब्रिटेन का ईयू से नाता तोड़ने के मकसद को रेखांकित किया था, चाहे समझौता हो या न हो।

    29 मार्च की अंतिम समयसीमा के बावजूद ब्रेक्सिट 31 अक्टूबर को समझौते के साथ या बगैर किया जायेगा। जॉनसन ने तीन महीने के कार्यकाल में ब्रेक्सिट को मुकम्मल करने का संकल्प लिया है जो पूर्व प्रधानमन्त्री मे तीन सालो में नहीं कर सकी थी।

    जॉनसन ने कहा कि “अगर वह नए समझौते पर बातचीत नहीं कर सके तो वह तय तारीख पर ईयू से ब्रिटेन को अलग कर देंगे। यूरोपीय संसद के ब्रेक्सिट स्टीयरिंग ग्रुप ने कहा कि “अगर नुकसान दोनों पार्टियों को एकसमान दंड नहीं देगा तो बगैर समझौते बाहर निकलना आर्थिक रूप से बेहद नुकसानदेह हो सकता है।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *