Fri. Jun 14th, 2024
    top worst bollywood love making scene

    मनुष्य की कई भावनाओं को बॉलीवुड बड़े ही दिलचस्प तरीके से दिखाता है जैसे दिल का टूटना, माँ का प्यार, दोस्ती और जूनून। लेकिन एक चीज़ जिसमें बॉलीवुड अभी भी नया है वह है कि अंतरंग दृश्यों को कैसे फिल्माया जाए? जिसे दूसरे शब्दों में सेक्स सीन भी कह सकते हैं।

    ‘बॉम्बे टॉकीज’ और ‘एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा’ जैसी कई लव ड्रामा फिल्मों के साथ बॉलीवुड धीरे-धीरे प्रोग्रेसिव सिनेमा की तरफ कदम बढ़ा रहा है।

    लेकिन आज हम बात करने जा रहे हैं बॉलीवुड फिल्मों के 5 सबसे ख़राब सेक्स सीन्स की जिसको देखकर दर्शकों की हंसी छूट जाती है।

    1. प्रेमअगन- 1998 में आई, फ़िरोज़ खान द्वारा निर्देशित फ़िल्म ‘प्रेम अगन’ का यह दृश्य वाकई मजेदार है जिसमें सैफ अली खान झुला झूल रहे होते हैं और अचानक से कमरे में मेघना कोठारी आती हैं और बड़े ही दिलचस्प अभिव्यक्ति के साथ कहती हैं कि, “मुझे वो हसीन दर्द दे दो सूरज”

    थोड़े अंतरंग दृश्यों के बाद सूरज को पता नहीं क्या सूझता है कि वह कहता है कि, “मैंने तुम्हारी मांग में सिंदूर नहीं भरा, अभी हमारे एक होने का समय नहीं आया है।” जिसपर सपना कहती है कि, “मैं भी तुम्हारा इम्तहान ले रही थी और मुझे ख़ुशी है कि तुम पास हुए।”

    इस सीन में आपको जिस बात से और भी ज्यादा हंसी आती है वह है इसका बैकग्राउंड संगीत। हम अबतक समझ नहीं पाए हैं कि निर्माताओं ने इसे सेंसुअल बनाने की कोशिश की थी कि मजाकिया।

    https://youtu.be/A89rupGYRBM

    गुंडा- मिथुन चक्रवर्ती की इस फ़िल्म को आजतक बनी फिल्मों में से सबसे खराब फ़िल्म कहें तो इसमें कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। हमें यह आश्चर्य होता है कि निर्माताओं ने फ़िल्म के दृश्य कलाकारों को समझाए कैसे होंगे?

    ‘गुंडा’ में एक दृश्य है जिसमें शक्ति कपूर एक औरत के साथ जोर-जबदस्ती कर रहे होते हैं और वो उतने में ही मर जाती है। इस सीन के पीछे का लॉजिक आप कभी नहीं समझ पाएंगे और शायद इसके पीछे कोई लॉजिक है भी नहीं।

    https://www.youtube.com/watch?v=HMTIJNArbK8

    मैं प्रेम की दीवानी हूँ-

    करीना कपूर और हृतिक रोशन की फ़िल्म ‘मैं प्रेम की दीवानी हूँ’ का काफी मज़ाक उड़ाया जाता है। इस फ़िल्म में एक गाना है ‘ओ अजनबी’ जिसे मेकर्स ने हॉट बनाने की कोशिश की है लकिन हॉट की जगह यह गाना फनी बन गया है।

    हृतिक रोशन किसी वजह से आग के बगल में बैठे होते हैं और करीना कपूर आकर उन्हें क्राउन पहना देती हैं और उनके चारो ओर घूम-घूमकर गाने लगती हैं। भावनाओं में बहकर हृतिक भी अजीबो-गरीब मार्शल आर्ट के पोज देने लगते हैं।

    दोनों करीब आते ही हैं कि तबसे न जाने कहाँ से बारिश होने लगती है और आपको लगता है कि अब कुछ होगा तबसे करीना कपूर भागने लगती हैं और हृतिक उनके पीछे दौड़ पड़ते हैं।

    बॉलीवुड के हिसाब से यह चीजें नार्मल हो सकती हैं लेकिन यदि आप इसके बारे में सोचें तो यह आपको बहुत मजेदार लगेगा।

    क्या कहना – बहुत संवेदनशील सामाजिक मुद्दे पर बनी प्रीटी जिंटा, सैफ अली खान और अनुपम खेर की फ़िल्म ‘क्या कहना’ का विषयवस्तु तो काफी अच्छा था। फ़िल्म शादी से पहले गर्भाधारण और उसके साथ आती सामाजिक परेशानियों के मुद्दे को उठाती है।

    लेकिन इसी फ़िल्म में आपको एक कमाल का मजेदार सीन देखने को मिलेगा जो निर्माताओं के हिसाब से एक लव मेकिंग सीन है लेकिन ध्यान से देखने पर आपको हंसी आ सकती है।

    पहले तो यह बात समझ में नहीं आती कि यह सब करने के लिए कोई भी एक खुली जगह क्यों चुनेगा और इससे भी बड़ी बात यह है कि घास पर पलटियां खाने से फीलिंग किसे आती होगी? हाँ खरोचे जरूर आ सकती हैं। और इससे भी ज्यादा मजेदार है सैफ अली खान की लेदर पैंट, जो लेदर है या प्लास्टिक, हमारी समझ से परे है।

    प्यार का साया- इस फ़िल्म में जिस तरह का रोमांस दिखाया गया है वाकई में वह सिर्फ और सिर्फ बॉलीवुड के स्क्रिप्टराइटर ही लिख सकते हैं।

    फ़िल्म के इस प्रेमी जोड़े के प्यार को दिखाने के लिए निर्माताओं से एक बड़ा ही क्रिएटिव एंगल चुना है। हग्स और किस दिखाने के बजाए वह बर्तन बनाने की कला के द्वारा प्रेम की अभिव्यक्ति करना चाहते हैं।

    गाना गाते-गाते अभिनेत्री बर्तन बना रही होती है और दोनों खुद भी मिटटी से सने होते हैं। तबसे लड़का, लड़की के चेहरे को पेंट करने लगता है और इससे उत्तेजित होकर लड़की उस बर्तन को तोड़ देती है जो वह इतनी मेहनत से बना रही थी।

    खिलाड़ियों का खिलाड़ी- यह फ़िल्म 1996 की सबसे बड़ी फिल्मों में से एक थी। फ़िल्म में अक्षय कुमार का किरदार माया (रेखा) का दिल जीतना चाहता था और इसी दौरान माया को उससे प्यार हो जाता है। इस रिश्ते को और भी ज्यादा कंविंसिंग बनाने के लिए फ़िल्म निर्माताओं से यह निर्णय किया कि दोनों पर एक गाना फिल्माया जाना चाहिए और जैसा कि रेखा का किरदार डार्क है तो इसकी पुष्टि करने के लिए इसमें भरभर कर सेक्स सीन होने चाहिए।

    इसी का नतीजा है फ़िल्म का गाना ‘इन द नाईट नो कंट्रोल’, वाह! गाने का नाम भी उतना ही क्रिएटिव है जितना इसका विडियो। गाने की शुरुआत में तो सब ठीक ही रहता है पर थोड़ी देर बाद अक्षय कुमार को पता नहीं क्या सूझता है और वह रेखा की आँख पर पट्टी बाँध कर उन्हें सेव खिलाने लगते हैं।

    दोनों को इतना काफी नहीं लगता क्योंकि इसके बाद दोनों कीचड़ से भरे तालाब में डुबकी मारने लगते हैं। इसके बाद दोनों को याद आता है कि उन्होंने अपने आप को कीचड़ में गन्दा कर लिया है तो दोनों नहाने चले जाते हैं।

    नहाने के बाद दोनों वापस बिस्तर पर आ जाते हैं। प्रश्न यह है कि एक लव मेकिंग में तीन बार कौन नहाता है?

    यह भी पढ़ें: 12, 13 और 14 अप्रैल को दिल्ली आ रहा यूट्यूब फैनफेस्ट, जानिये पूरी डिटेल्स

    By साक्षी सिंह

    Writer, Theatre Artist and Bellydancer

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *