Tue. Mar 5th, 2024

    बुलंदशहर में 2016 में एक हाईवे पर मां-बेटी संग सामूहिक दुष्कर्म करने के मामले में मुख्य आरोपी सलीम बावरिया की रविवार को सरकारी अस्पताल में किडनी की बीमारी के चलते मौत हो गई। वह लंबे अरसे से इस बीमारी से ग्रसित था। इस मामले की जांच कर रहे केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने तीन साल पहले उसके और दो अन्य के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया था।

    बावरिया बुलंदशहर की जिला जेल में बंद था।

    पुलिस अधीक्षक (एसपी) अतुल कुमार श्रीवास्तव के अनुसार, बावरिया ने हाल ही में दिल्ली के राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में डायलिसिस कराया था। रविवार तड़के उसकी हालत बिगड़ गई, जिसके बाद उसे बुलंदशहर के जिला अस्पताल ले जाया गया, लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई।

    गौरतलब है कि जुलाई 2016 में कुख्यात बावरिया गिरोह ने राजमार्ग पर एक परिवार के सभी पुरुष सदस्यों को बंधक बनाने के बाद, एक 13 वर्षीय लड़की और उसकी मां के साथ दुष्कर्म और लूटपाट की घटना को अंजाम दिया था।

    छह सदस्यों वाला परिवार 29 जुलाई और 30 जुलाई, 2016 की रात दिल्ली-कानपुर राजमार्ग पर यात्रा कर रहा था, जब यह घटना घटी।

    पुलिस जांच बावरिया गिरोह पर केंद्रित थी और इसने बाद में इस गिरोह के तीन सदस्यों को इस अपराध के लिए गिरफ्तार किया था।

    मामला बाद में सीबीआई को सौंप दिया गया था, जिसने तीन आरोपियों -सलीम बावरिया, जुबैर और साजिद- के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया था।

    जुबैर और साजिद फिलहाल बुलंदशहर जेल में बंद हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *