दा इंडियन वायर » खेल » जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी, तीनो गेंदबाज मैच विजेता है: वेंकटेश प्रसाद
खेल

जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी, तीनो गेंदबाज मैच विजेता है: वेंकटेश प्रसाद

वेंकेटेश प्रसाद

विश्व कप में जाने वाली भारतीय टीम के पास स्टार आकर्षण से भरा एक बल्लेबाजी आक्रमण है, जो कि उनके पास वर्षों से है, गुणवत्ता वाले स्पिनर है और एक शानदार तेज गेंदबाजी आक्रमण में गुणवत्ता है। उनके पास अब एक तेज बैटरी है जो टीम को जल्द सफलता दिलवा सकते है और नई गेंद होने पर बल्लेबाजो पर हावी हो सकते है। पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज वेंकेटेश प्रसाद का कहना है कि उनमें से हर एक मैच विजेता है।

जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी तीनों प्रभावी और सफल रहे हैं और भारतीय चयनकर्ताओं ने सिर्फ तीन को चुना है। प्रसाद जो 2007 से 2009 तक भारत की राष्ट्रीय टीम के गेंदबाजी कोच रहे है ने तेज गेंदबाजी अतिक्रमण का समर्थन किया और कहा है कि तीन गेंदबाज इंग्लैंड में प्रभावी नजर आएंगे। उन्होंने बुमराह को चतुष्कोणीय आयोजन में भारत की संभावनाओं की कुंजी के रूप में भी बताया है।

प्रसाद ने मिड-डे से बात करते हुए कहा, ” सीम प्रस्तुति, खत्म और सरासर गति के संदर्भ में उनकी तकनीकी विशेषज्ञता बस बकाया है। हर कोई अपने दम पर मैच जीताने में सक्षम है।”

खासकर, बुमराह भारत की गेंदबाजी के लिए विराट कोहली की तरह ही महत्वपूर्ण हैं। वह मुंबई इंडियंस के लिए आईपीएल में शानदार प्रदर्शन करते आए है जहां उन्होने 16 खेलों में 19 विकेट लिए थे। वह डेथ ओवरों में लगभग त्रुटिहीन है, जो उसे बल्लेबाजी पर एक बड़ी संपत्ति बनाता है और उन्हें इंग्लैंड की रनो वाली पिचो में यह करके दिखाना होगा।

प्रसाद ने कहा, ” वह बुमराह पावरप्ले, मिड-इनिंग और आखिरी के ओवरो में विश्व में सर्वश्रेष्ठ में से एक है।  परिपक्वता स्थिति जानने के बारे में है, बल्लेबाज के इरादों के बारे में। उसके पास कोई अनुमान नहीं है क्योंकि उसके पास बहुत सारे विकल्प हैं। शॉर्ट रन-अप से वह जिस गति से उत्पन्न होता है वह शानदार है। भारत में बुमराह जैसे किसी व्यक्ति को रखने का बहुत आशीर्वाद है।”

भुवनेश्वर के लिए यह आईपीएल सीजन शानदार नही रहा था। और वह केवल 15 मैचो में 13 विकेट ही हासिल कर पाए। वह कई मैचो में डेथ ओवरो में बहुत महेंगे साबित हुए और अपनी टीम को जल्द विकेट भी दिलवाने में असफल रहे। शमी की बात करे तो उनके लिए सीजन मिला-जुला रहा, वे भी अपनी टीम के लिए कई मौको पर महेंगे साबित हुए लेकिन शमी ने कई मौको पर टीम को विकेट लेकर भी दिए। प्रसाद का मानना है कि दोनो खिलाड़ी इंग्लैंड जाने से पहले अपनी गेंदबाजी में सुधार कर लेंगे।

पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने निष्कर्ष निकाला, “‘मुझे उम्मीद है कि न तो भुवी और न ही शमी को खुद पर शक होने लगा है क्योंकि वे आईपीएल में कुछ ओवरों के लिए गए थे। मुझे पता है कि प्रारूप और मंच अलग-अलग हैं, लेकिन कभी-कभी आप अपने आप पर संदेह करना शुरू कर देते हैं कि क्या आप अपनी विविधताओं को निष्पादित करने में सक्षम नहीं हैं। यह एक छोटा सा संदेह है, मुझे विश्वास है कि उनके पास यह अनुभव और पिछली चीजे उन्हे प्रभावित नही करेंगी।”

About the author

अंकुर पटवाल

अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!