शुक्रवार, दिसम्बर 13, 2019

उत्तर प्रदेश: बुंदेलखंड किसान यूनियन ने बालू खनन का आरोप, प्रशासन ने किया इंकार

Must Read

‘मर्दानी 2’ में रानी मुखर्जी के काम की ट्विटर पर सराहना

गोपी पुथरण निर्देशित फिल्म 'मर्दानी 2' शुक्रवार को रिलीज की गई। फिल्म में रानी मुखर्जी मुख्य किरदार में हैं।...

चिली विमान हादसे में किसी के बचने की उम्मीद कम

चिली की वायुसेना ने कहा है कि अधिकारियों ने अंटार्कटिका के लिए रवाना हुए 38 लोगों के साथ दुर्घटनाग्रस्त...

झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 : अब संथाल, कोयलांचल में बिछेगी सियासी बिसात

झारखंड विधानसभा चुनाव के तीन चरणों का मतदान समाप्त हो जाने के बाद अब दो चरणों का मतदान शेष...

उत्तर प्रदेश के हिस्से वाले बुंदेलखंड के बांदा जिले में ‘लाल सोना’ यानी बालू की लूट एक बार फिर शुरू होने का आरोप बुंदेलखंड किसान यूनियन ने लगाया है और इसके खिलाफ जल्द ही बड़ा आंदोलन शुरू करने की घोषणा की है। हालांकि प्रशासन ने अवैध बालू खनन से इंकार किया है।

बुंदेलखंड किसान यूनियन के केंद्रीय अध्यक्ष विमल शर्मा ने कहा, “जिले में छोटी-बड़ी एक सैकड़ा से अधिक जगहों पर बालू की खदानें संचालित हैं। नदियों के अलावा माफिया किसानों के खेतों से जबरन बालू का खनन कर रहे हैं।”

उन्होंने आरोप लगाया कि “सत्ता पक्ष के विधायक और कुछ नेता प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से इस गोरखधंधे में शामिल हैं। इतना ही नहीं, बालू माफिया किसानों की खड़ी फसल रौंद कर ओवरलोड ट्रक निकलते हैं। अगर किसान विरोध करता है तो उसकी गनीमत नहीं है।”

शर्मा ने चेतावनी दी कि यदि बालू का अवैध खनन और किसानों का उत्पीड़न बंद नहीं हुआ तो किसान शीघ्र ही बड़ा आंदोलन करेंगे।

पुलिस के अधिकारी ने भी नाम न छापने की शर्त पर स्वीकार किया कि “नरैनी क्षेत्र में सर्वाधिक बालू का अवैध खनन हो रहा है। इस क्षेत्र के गांवों में शाम से लेकर सुबह आठ बजे तक बालू लदे ट्रैक्टर फर्राटा भरते हैं। सत्ता पक्ष के एक जनप्रतिनिधि के दो भाई और उनके प्रतिनिधि के तीन ट्रैक्टर बालू ढुलाई के काम पर लगे हैं। पर, पुलिस क्या करे।”

लेकिन अपर जिलाधिकारी संतोष बहादुर सिंह जिले में अवैध खनन से इंकार किया है। वह कहते हैं, “मध्य प्रदेश की सरहद में अवैध खनन हो सकता है, पर बांदा जिले में ऐसा कुछ नहीं है। समय-समय पर पुलिस और राजस्व विभाग के अधिकारी छापेमारी कर रहे हैं और अवैध खनन करते पकड़े जाने पर कानूनी कार्रवाई भी की जाती है।”

बांदा के खनिज अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि “वैसे तो पूरे जिले में 39 बालू की वैध खदानें हैं, लेकिन मौजूदा समय में कनवारा, लहुरेटा, दुरेंड़ी और भुरेंडी में बालू का खनन हो रहा है। इसके अलावा जो भी खनन हो रहा है, वह अवैध है।”

जबकि बुंदेलखंड किसान यूनियन का दावा है कि नरैनी क्षेत्र की बागै नदी में राजापुर, नौगवां, मुगौरा व दूली गांव में आधा दर्जन, केन नदी में रिसौरा, मऊ, बांसी, पारादेव, लहुरेटा, नसेनी, जमवारा, बरसड़ा-मानपुर और रंज नदी में बरकोला, पुंगरी, शाहपाटन, बसराही आदि तीन दर्जन गांवों में दिन-रात बालू का खनन किया जा रहा है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

‘मर्दानी 2’ में रानी मुखर्जी के काम की ट्विटर पर सराहना

गोपी पुथरण निर्देशित फिल्म 'मर्दानी 2' शुक्रवार को रिलीज की गई। फिल्म में रानी मुखर्जी मुख्य किरदार में हैं।...

चिली विमान हादसे में किसी के बचने की उम्मीद कम

चिली की वायुसेना ने कहा है कि अधिकारियों ने अंटार्कटिका के लिए रवाना हुए 38 लोगों के साथ दुर्घटनाग्रस्त सैन्य विमान से किसी भी...

झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 : अब संथाल, कोयलांचल में बिछेगी सियासी बिसात

झारखंड विधानसभा चुनाव के तीन चरणों का मतदान समाप्त हो जाने के बाद अब दो चरणों का मतदान शेष है। शेष दो चरणों के...

अरुणाचल के लोवर डिबांग वैली में जेके टायर ऑरेंज 4गुणा4 फ्यूरी शुरू

देश की सबसे कठिन और सबसे रोमांचक ऑफ रोडिंग प्रतियोगिताओं में से एक जेके टायर ऑरेंज 4गुणा4 फ्यूरी का शुक्रवार को यहां लोवर डिबांग...

पाकिस्तान : लाहौर अस्पताल हमला मामले में 250 वकीलों पर मुकदमा

पुलिस ने लाहौर में पाकिस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोलॉजी (पीआईसी) पर हमला करने और संपत्ति को लूटने के लिए विभिन्न आपराधिक आरोपों के तहत 250...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -