Tue. Mar 5th, 2024
    UPENDR KUSHWAHA

    एनडीए से अलग होकर कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल वाले महागठबंधन में शामिल होने के बाद राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हमला बोला और कहा कि उनके शासन में राज्य की क़ानून व्यवस्था सबसे निम्न स्तर पर पहुँच गई है।

    बुधवार को वैशाली में एक भाजपा नेता की हत्या के बाद कुशवाहा ने कहा, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राज्य का संचालन करने में विफल रहे हैं और बिहार के लोगों के सामने स्वीकार करना चाहिए कि वह अब राज्य को संभालने में असमर्थ हैं।

    गुरुवार को कुशवाहा हिंदुस्तान अवाम मोर्चा के नेता जीतन राम मांझी, राजद नेता तेजस्वी यादव, कांग्रेस नेता अहमद पटेल, कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी शक्तिसिंह और विपक्ष के अन्य महागठबंधन नेताओं की मौजूदगी में महागठबंधन में शामिल हुए। दिल्ली में कांग्रेस मुख्यालय में शरद यादव ने यह घोषणा करते हुए कि कुशवाहा की पार्टी विपक्ष के नेतृत्व वाले महागठबंधन में शामिल हो गई है। अहमद पटेल ने कुशवाहा का स्वागत करते हुए कहा था कहा, “बिहार में एक गणबंधन (गठबंधन) है, यह खुशी की बात है कि उपेंद्र कुशवाहा महागठबंधन (महागठबंधन) में शामिल हो रहे हैं।”

    कुशवाहा ने महागठबंधन में शामिल होने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी की तारीफ़ करते हुए कहा कि “बिहार में महागठबंधन में शामिल होने का एक कारण कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की ‘ ईमानदारी’ थी। उन्होंने कहा, “हमने कहा था कि हमारे पास कई विकल्प हैं और यूपीए उनमें से एक था। राहुल गांधी और लालू यादव द्वारा दिखाई गई पूरी शिष्टता मेरे शामिल होने के कारणों में से एक है।

    उपेन्द्र कुशवाहा के महागठबंधन में शामिल होने के बाद अब महागठबंधन में कांग्रेस, राजद, हम, और शरद यादव की लोकतांत्रिक समता पार्टी है। जबकि एनडीए में भाजपा, जेडीयू और लोजपा।

    सूत्रों के अनुसार लोजपा की नाराजगी भाजपा ने ख़त्म कर दी है और शनिवार को एनडीए में सीटों का बंटवारा हो जाएगा।

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *